ENG | HINDI

इस मुस्लिम देश मे लड़कियों को छेड़ना नहीं है कोई जुर्म

लड़कियों को छेड़ना

लड़कियों को छेड़ना – आज हर तरफ़ महिलाओं की सुरक्षा की बात चल रही है।

भारत ही नहीं बल्कि कई देशों मे महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसे मे सभी देश की सरकारें औरतों की सुरक्षा के लिए कानून को सख्त करने मे लगी हुई है लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि दुनिया मे एक देश ऐसा भी है जहां लड़कियां छेड़ना कोई जुर्म नहीं है।

जी हाँ, दुनिया मे एक ऐसा भी देश है जहां पर महिलाओं को छेड़ने पर कोई रोक टोक नहीं है।

आइये जानते हैं इस अनोखे देश के बारे मे जहाँ लड़कियों को छेड़ना नहीं है जुर्म।

ये है उस देश का नाम

ईरान दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां पर कोई भी जुर्म करे उसे अपराधी न मानकर उसकी माँ को अपराधी माना जाता है क्योंकि यहाँ कि सरकार मानती है कि अगर उस महिला ने अपने बच्चे को अच्छे संस्कार दिये होते तो आज वो ऐसा कुछ जुर्म नहीं करता। यहाँ पर महिलाओं के लिए कोई अधिकार नहीं है और इसी वजह से ईरान मे लड़कियों को छेड़ना कानूनी जुर्म नहीं होता है।

इस खबर को पढ़ने के बाद आप भी हैरान हो रहे होंगे कि भला ऐसा भी किसी देश या समाज मे हो सकता है। लेकिन ईरान मे तो कुछ ऐसा ही होता है। ईरान के अलावा ऐसे कई इस्लामिक देश हैं जहां पर महिलाओ के साथ ऐसा ही व्यवहार किया जाता है। आइये जानते हैं इस देश के बारे मे कुछ और सिलचस्प बातें:

ईरान का मतलब होता है “आर्यों कि ज़मीन”। इसका आधिकारिक नाम इस्लामिक रेपब्लिक ऑफ ईरान है जो 11 फरवरी 1979 मे इस्लामिक क्रांति के बाद अस्तित्व मे आया। ईरान को सन 1935 तक समूची दुनिया फारस के नाम से जानती थी।

इस्लाम धर्म ही ईरान मे राजधर्म है और यहाँ पर शिया मुसलमान का बहुमत है। शिया के बाद सुन्नी मुसलमान की आबादी यहाँ ज्यादा है और यहाँ पर यहूदी, ईसाई और बहाई भी रहते हैं।

ईरान मे विश्व धरोहरों की लंबी सूची है। सर्वाधिक धरोहरों के मामले मे ईरान का स्थान सातवाँ है। ईरान दुनिया मे दूसरा सबसे बड़ा प्राकृतिक गैस उत्पादक देश है तो तीसरा ऑयल रिजर्व। ईरान दुनिया के महान योद्धाओ दानियल, साइरस, रानी ईस्टर, दारियस महान की धरती है।

ईरान के अधिकतर युवा शादी से पहले ही अपनी वर्जिनिटी खो देते हैं। इनमे लड़कियां भी शामिल हैं। ऐसे मे शादी के लिए अपनी वर्जिनिटी को वापस पाने के लिए लड़कियां सर्जरी करवाती हैं। इस सर्जरी को हाएनोप्लास्टी कहते हैं।

4 साल पहले मौलवी आयतुल्लाह सादिक़ रूहानी ने एक फतवा जारी किया था जिसमे उन्होने इस सर्जरी को वैध बताया था लेकिन ये सर्जरी आधिकारिक तौर पर स्वीकृत नहीं है।

अब आप ही देख लीजिये एक तरफ़ तो इस देश मे महिलाओं को छेड़ना कोई जुर्म नहीं है वहीं दूसरी ओर यहाँ पर लड़कियां शादी से पहले ही अपनी वर्जिनिटी खो देती हैं। दोनों ही बातों मे ज़मीन आसमान का फर्क है।

लड़कियों को छेड़ना – आपको भी ईरान की ये हकीकत जानकार हैरानी हो रही होगी कि भला एक ही देश के ऐसे दो चेहरे कैसे हो सकते हैं। अब जो भी है सच आपके सामने है।

Don't Miss! random posts ..