ENG | HINDI

बन्दरों की वजह से नहीं उठ रही है यहां की लड़कियों की डोली, पूरी खबर आपको भी कर देगी हैरान

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं – ये खबर आपके लिए चौंकाने वाली तो ज़रूर हो सकती है लेकिन ये एकदम सच है।

यूं तो अपनी बिटिया की शादी करना, उसे दुल्हन बनते देखना, उसे डोली में बिठाकर विदा करना हर मां-बाप का ख्वाब होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे देश में एक ऐसी भी जगह है जहां मां-बाप चाहकर भी अपनी बेटियों की शादी नहीं कर पा रहे हैं।

आगे की खबर पढ़कर आपको और हैरानी हो सकती है क्योकि यहां की लड़कियों की शादी ना होने की वजह यहां के बंदर है।

जी हां, अपने पिता के घर से डोली में बैठकर, लाल सुर्ख जोड़ा पहन आंखों में अपनी नईं ज़िंदगी के ख्वाब लिए अपने पिया के घर जाना हर लड़की का ही नहीं, बल्कि उसके पूरे परिवार का ख्वाब होता है।

लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जगह की घटना बताने जा रहे हैं जहां लड़कियों और उनके परिवार के इस ख्वाब को पूरा करने के बीच में आ रहे हैं वहां के बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं ।

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

अपनो सपनों के राजकुमार के सफेद घोड़े पर सवार होकर आने का इंतज़ार हर लड़की को रहता है लेकिन इस गांव की लड़कियों का दुर्भाग्य है कि उनका ये इंतज़ार पूरा नहीं हो पा रहा है और उसकी वजह यहां के बंदर हैं।

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

चलिए आपको बता देते हैं कि ये घटना कहां की है, दरअसल बिहार के पटना से 75 किमी दूर जिला भोजपुर पड़ता है , इस जिले में रतनपुर नामक गाँव है जहां की ये घटना है। इस गांव में बंदरों का इतना आंतक है कि यहां लोग बारात लेकर आने से कतराते हैं, ये पूरा गांव बंदरों के आंतक से परेशान है और अब इसी वजह से यहां की लड़कियों की शादी भी नहीं हो पा रही है क्योकि बाकी सभी गांवों के लोग यहां बारात लाने से डरते हैं। यहां लोग बारात लाने से इसलिए कतराते हैं क्योकि यहां इतने बंदर हैं जो कि लोगों को लहुलुहान करने में  बिल्कुल देर नहीं लगाते हैं। इसलिए यहां लोग बारात लाने से डरते हैं और इसी वजह से यहां की लड़कियां भी  कुंवारी हैं।

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

बंदरों के इसी आतंक की वजह से यहां लोग बारात लाने से कतराते हैं। दरअसल, अभी कुछ वक्त पहले यहां एक बारात आई थी। खुशी में मग्न, हंसते-गाते लोग यहां की एक लड़की को ब्याहने आए थे लेकिन इसी बीच उन पर बंदरों के एक झुण्ड ने हमला कर दिया और कईं लोगों को लहुलुहान कर दिया। बंदरों के इस आतंक का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि इस बारात के दौरान लोगों के लिए अपने आप को बचा पाना मुश्किल हो गया था।

बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं

गौरतलब है कि सिर्फ इसी गांव का नहीं, बल्कि आस-पास के कईं गांवों का भी यही हाल है और इसी वजह से यहां की लड़कियां कुंवारी हैं। बंदरों से गांव वालों को बचाने के लिए यहां के प्रशासने ने क्या कदम उठाए हैं और अगर नहीं उठाए हैं तो क्यों नहीं उठाए हैं, इस बारे में कोई जानकारी नही हैं लेकिन इतना ज़रूर है कि इस समस्या का जल्द से जल्द निदान बहुत ज़रूरी है ताकि यहां की लड़कियों की शादी भी आराम से और खुशी से हो सके।

ये है बंदर जिनकी वजह से गांव की लड़कियां कुंवारी हैं !

Don't Miss! random posts ..