ENG | HINDI

दुनिया की पहली लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची सबके घर

लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची

लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची – भारत में शादी के मायने बहुत बड़े होते हैं.

शादी एक ऐसा शब्द है जिसमें दो परिवार एक साथ बंधते हैं. शादी वाले घर में लड़का सबकुछ करता है, लेकिन लड़की अपने कमरे से बाहर नहीं निकलती. भारतीय परिवेश में लड़कियों को अपनी शादी में सिर्फ शॉपिंग करने की छूट होती है. इसके अलावा वो और कुछ नहीं करतीं. यहाँ तक की उन्हें ये भी नहीं पता होता कि शादी में कौन-कौन आ रहा है?

लेकिन इसी भारत की एक लड़की ने सारे रिवाज़ को तोड़कर एक नई शुरुआत की है. इस लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची –

लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची –

भारत में अपनी शादी का कार्ड लड़की लोगों के घर पहुंचाए, ये सोचकर भी हैरानी होती है.

जब आपसे कोई ये कहे कि कोई लड़की अपनी शादी का कार्ड घोड़े पर बैठकर देने आई थी, तब तो आपको चक्कर ही आ जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ है. वो भी एक ऐसे राज्य में जहाँ परदा प्रथा आज भी  बहुत है. ब्रिटेन से एमबीए कर चुकी गार्गी रथ पर सवार, सिर पर साफ़ा बांधे ज़िले के अलग-अलग इलाक़ों में जा रही है.

राजस्थान में ये काम एक लड़की को करते देख सभी हैरान हैं.

ये कोई आम लड़की नहीं है बल्कि विदेश से पढ़कर आई है और इसका मकसद यहाँ पर लड़के और लड़की के बीच के गैप को भरना है.

जिस रस्म के तहत ये लड़की अपनी शादी का न्योता बाँट रही थी, असल में राजस्‍थान में बिंदौरी परंपरा के तहत शादी से पहले कुछ रस्‍मों दूल्‍हा साफा बांधकर घोड़े के रथ पर दुल्‍हन के घर तक जाता है. इसका मकसद दुल्‍हन के संबंधियों को शादी में आमंत्रित करना होता है.

जो काम दूल्हा करता है, वो इस लड़की ने करके बाकी लड़कियों को ये दिखाया है कि वो लड़कों से कम नहीं और समाज को भी ये दिखाने की कोशिश की है कि सिर्फ लड़के ही घोड़ी चढ़कर लड़कियों के घर नहीं आ सकते, बल्कि लड़कियां भी जा सकती हैं.

गार्गी ने ज़रूर विदेश में पढ़ाई की है, लेकिन उसे अपने देश की सारी परंपरा मालूम है.

गार्गी  ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभि‍यान के  तहत लोगों को आगे बढ़ने और जागरुक करने के ल‍िए एक नया कदम उठाया है. उन्‍होंने दूल्‍हे के घोड़े पर सवार होने वाले र‍िवाज को तोडऩे का प्रयास क‍िया है. राजस्थान में जहाँ बेटियों की संख्या कम है, वहां पर इस तरह का कदम उठाना लोगों को हैरान कर गया.

लोगों को इसका अंदेशा भी नहीं था कि ऐसा कुछ होगा.

बहरहाल हम आपको बता दें कि जब गार्गी ऐसा कर रही थीं, तो उनके घर वाले और गाँव के बाकी लोग उनके साथ थे और साथ में बैंड बाजा भी था.

बड़े ही उत्साह के साथ गार्गी ऐसा कीं. दुल्हे के घर वाले अपनी बहू का ये रूप देखकर हैरान थे, लेकिन गार्गी के होने वाले पति को अपनी होने वाली पत्नी का ये कदम देखकर ख़ुशी हुई.

लड़की जो शादी का न्योता देने घोड़े से पहुंची – अगर इसी तरह से देश के बाकी हिस्सों की लड़कियां कदम उठाएं तो बहुत सी कुरीतियाँ इस समाज से विदा हो सकती हैं. हर लड़की को समाज को बदलने का प्रयास करना चाहिए.

Don't Miss! random posts ..