ENG | HINDI

इस पाकिस्तानी लड़की का भारत में होगा स्वयंवर पहुंचेंगे देश के बड़े बड़े नेता !

गीता की शादी

गीता की शादी – तकदीर भी क्या क्या खेल खिलाती है.

कभी किसी को अपनों से जुदा कर देती है तो कभी झोली में इतनी खुशियाँ भर देती है कि संभाले नहीं संभलता. कुछ ऐसा ही हुआ है गीता के साथ. 14 साल बाद गीता भारत लौटी है. मूक और बधिर गीता हिन्दुस्तान से पाकिस्तान पहुँच गई थी.

उस समय वो अपनों से बिछड़ गई, लेकिन इस बार किस्मत उसे दोनों हाथों से दे रही है.

गीता की शादी – गीता का हिन्दुस्तान में स्वयंबर होगा.

सबसे बड़ी बात ये है कि गीता की शादी – गीता के इस स्वयंबर का पूरा मंत्रालय ही उठाएगा. ख़ुशी की बात ये भी है कि गीता से विवाह करने के लिए हिन्दुस्तान के अच्छे अच्छे लड़कों की लाइन लग रही है. कोई लेखक है तो कोई पंडित. इस बार गीता की शादी को लेकर चर्चा है.

उसके लिए योग्य वर की तलाश की जा रही है. खुद गृहमंत्रालय गीता के लिए योग्य दुल्हा तलाश रहा है. बड़ी संख्या में लड़के आगे आ रहे हैं.

गीता पाकिस्तान से हिन्दुस्तान तो पहुँच गई है लेकिन अभी तक उसके माँ-बाप का कोई पता नहीं चल पाया है, इसलिए विवाह की सारी जिम्मेदारी गृहमंत्रालय ही उठा रहा है.

फेसबुक पर एक गैर सरकारी संगठन द्वारा वैवाहिक विज्ञापन पोस्ट किए जाने के 10 दिन के भीतर लगभग 20 लोगों ने इस युवती के साथ सात फेरे लेने की इच्छा जताई है.

गीता बड़ी ही खुशनसीब है कि पाकिस्तान में रहने के बाद भी बड़े और अच्छे घरों के लड़के उसका हाथ थामने के लिए आगे आ रहे हैं.

मूक-बधिर समुदाय के अधिकारों के लिए काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता ज्ञानेंद्र पुरोहित ने बताया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से कुछ दिन पहले मुलाकात के बाद उन्होंने गीता के लिए योग्य वर की तलाश के मकसद से फेसबुक पर वैवाहिक विज्ञापन पोस्ट किया है.

यह विज्ञापन “रीयूनाइट गीता, ए डेफ गर्ल, विद फैमिली” नाम के पुराने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया गया है.

उन्होंने बताया कि इस ऑनलाइन विज्ञापन के आधार पर अबतक लगभग 20 लोगों ने बाकायदा अपने बायोडेटा के साथ गीता से शादी का प्रस्ताव भेजा है, जिनमें मंदिर का पुजारी और लेखक शामिल हैं. इनमें आठ युवक सामान्य हैं यानी वे गीता की तरह विशेष जरूरतों वाले नहीं हैं.

ऐसे में बड़ी ही सावधानी पूर्वक किसी उचित वर का गीता के लिए सिलेक्शन किया जाएगा.

गीता की शादी में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अहम्ए भूमिका निभा रही हैं.

कोई भी बायोडाटा उनके देखे बिना आगे नहीं जाएगा. इसका मतलब ये हुआ कि लड़कों को शादी से पहले सुषमा स्वराज के आगे खड़ा होना पड़ेगा. उन्हें ये विश्वास दिलाना होगा कि सच में वो गीता को खुश और सुखी रखेंगे.

एक  अखबार के अनुसार संस्‍था ने बताया है कि कई युवाओं ने कॉल करके गीता से शादी की इच्छा जताई है. संस्‍था ने उन लड़कों से बायोडेटा मंगवाए थे. उन्हें विदेश मंत्रालय भेज दिया गया है.

गीता की शादी – खबरों की मानें तो ये भी सुनने में आ रहा है कि दुनिया में नाम कमाने के लिए भी कुछ युवा ऐसा कर रहे हैं. वो गीता से शादी करके खुद फेमस हो जाना चाहते हैं. साथ ही उन्हें गीता की बदौलत बहुत सारी सुविधाएं भी मिल जाएंगी. इन सबका फायदा उठाने के लिए वो ऐसा कर रहे हैं.

Don't Miss! random posts ..