ENG | HINDI

जवानी में न करें ये फाइनेंसियल गलतियां वरना उम्र भर पछताएंगे

फाइनेंसियल गलतियां

फाइनेंसियल गलतियां – जवानी के दिनों में ज़िदंगी जीने का अलग ही जोश और उत्साह होता है।

खुलकर हंसना, दिल खोलकर लाइफ एज्वॉय करना, इस वक्त पर ना तो आने वाले कल की चिंता होती है और ना आज से जुड़ी किसी बात की दिक्कत, ये वक्त ही ऐसा होता है कि आप जी खोलकर जीते हैं।

जी खोलकर जीने का ये वक्त यानी की जवानी, ज़िदंगी का सुनहरा दौर होता है। अधिकतर लोग अपने कॉलेज से निकल रहे होते हैं और कॉलेज से निकलकर नौकरी की दुनिया में कदम रखते हैं। पहली नयी नौकरी की भी बात कुछ और ही होती है। जब पहली बार अपनी कमाई अपने हाथ में आती है तो ऐसा लगता है मानो दुनिया ही जीत ली हो। अपने कमाए हुए पैसे, चाहे थोड़े ही हो लेकिन खुशी बहुत देते हैं।

अपनी पहली कमाई शायद ही कोई कभी भूला हो, भले ही आगे चलकर आपकी कमाई कितनी ही बढ़ जाए लेकि पहली बार अपनी मेहनत से कमाए गए कुछ रूपयों को कोई नहीं भूलता है।

जवानी के इस जोश में जब यंगस्टर्स कमाई करते हैं तो फाइनेंसियल गलतियां कर लेते है – जोड़ने के बारे में नहीं सोचते हैं बल्कि दिल खोल कर पैसा खर्च करते हैं। इसका एक पहलू ये भी है कि उस वक्त इंसान पर कोई आर्थिक और पारिवारिक जिम्मेदारी नहीं होती है। इस वजह से पैसे जोड़ने के बारे में ना सोचते हुए इंसान पैसा खर्च करते-करते फिजूलखर्ची तक पहुंच जाता है।

फाइनेंसियल गलतियां –

१ – सही रणनीति तैयार करें

इसलिए, अगर आप चाहते हैं कि फ्यूचर में आपको किसी तरह की आर्थिक परेशानी का सामना ना करना पड़े तो इसके लिए ज़रूरी है कि आप एक सही रणनीति तैयार करें जिसके आपको अपने आने वाले कल में पैसे की कोई भी दिक्कत ना हो।

२ – बजट बनाएं

अक्सर लोग ये सोच लेते हैं कि योजना बनाने के लिए कुछ नहीं है ये थिकिंग गलत है। आपको हर चीज़ और काम की एक लिस्ट बनानी चाहिए और उसके अनुसार अपना बजट बनाना चाहिए, साथ ही क्रेडिट कार्ड को जितना जल्दी हो टाटा-बाय बोल देना चाहिए क्योकि ये आपकी जेब में छेद कर रहे हैं। कईं लोग क्रेडिट कार्ड लेकर इसका यूज करते रहते हैं और ये रिलाइज़ भी नहीं करते हैं कि क्रेडिट कार्ड कम्पनियां उनसे कितना ब्याज ले रही हैं। उसके अलावा जवानी की अवस्था में अधिकतर लोग सिर्फ आज के खर्चों पर ध्यान देते हैं और इमरजेंसी फंड के नाम पर कुछ भी सेव नहीं करते हैं जो कि सबसे  बड़ा ड्रा बैक है क्योकि इमरजेंसी के वक्त में जुड़ा हुआ पैसा बहुत काम आता है इसलिए पैसे जोड़ते रहना चाहिए।

३ – आधा ही खर्च करें

अगर आप एक रूपया कमाते हैं तो इसमें से सिर्फ आधा ही खर्च करें और बाकी को बचाने की कोशिश करें, आप म्यूचल फंड्स, एफडी या और भी कईं जगह इंवेस्ट कर सकते हैं। एक बात याद रखिए कि अगर आप जितना कमा रहे हैं उतना खर्च कर दे रहे हैं और कुछ नहीं बचा रहे हैं तो असल में आप कुछ नहीं कमा रहे हैं।

इस तरह से फाइनेंसियल गलतियां करने से बचे और भविष्य के बरी में सोचे – लाकर इन बातों का ध्यान रखिए और अपने फ्यूचर को आर्थिक रूप से सिक्योर करें।

Don't Miss! random posts ..