ENG | HINDI

मजदूर बना मालामाल, करोड़ो का हीरा लगा हाथ

मोतीलाल प्रजापति

मोतीलाल प्रजापति – ‘देने वाला जब भी देता, देता छप्पड़ फाड़ के’ फिल्मों में ही नहीं असल जिंदगी में भी ऊपरवाला कभी-कभी छप्पड़ फाड़ के पैसों की बरसात कर देता है।

हमारे आस-पास ऐसी कई घटनाएं होती हैं, जो हमें चमत्कार पर विश्वास करने के लिए मजबूर कर देती है। अभी पिछले दिनों ही एक व्यक्ति को लॉटरी टिकट ने करोड़पति बना दिया था। हाल ही में ऐसा एक अन्य मामला सामने आया है।

मध्यप्रदेश के एक मजदूर को एक कीमती हीरा मिल गया, जो अब उसे करोड़पति बना देगा। जी हां! रोज कड़ी मेहनत करने के बाद जिस मजबूर को 50-100 रुपए मिल पाते होंगे, वो एक झटके में करोड़पति बन गया। आइए जानते हैं पूरा मामला।

पन्ना का है मामला

मोतीलाल प्रजापति

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के कृष्ण कल्याणपुर गांव निवासी मोतीलाल प्रजापति एक खदान मजदूर है। यहां उन्होंने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर हीरा कार्यालय से एक हीरा खदान को पट्टे पर लिया था। इस खदान में खुदाई के दौरान उनके हाथ 42.59 कैरेट का बेशकीमती हीरा लग गया।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश का पन्ना जिला हीरा खदानों के लिए ही मशहूर है। जिले के अंदरूनी हिस्सों में खदानों की अत्यधिक तादाद है। आकड़ों के अनुसार पन्ना  स्थित खदानों में हर साल लगभग 84,000 कैरेट हीरा उत्पन्न करने की क्षमता है। यह भी माना जाता है कि यहां की खदानों में करीबन 12 लाख कैरेट के हीरे दबे हुए हैं।

इतनी है कीमत

मोतीलाल प्रजापति

मोतीलाल प्रजापति ने इस कीमती हीरे को जिले के हीरा कार्यालय में जमा कर दिया है। अधिकारियों ने अभी इस 42.59 कैरेट के हीरे की कीमत जाहिर नहीं है। हालांकि विशेषज्ञों के अनुसार इसकी कीमत डेढ़ से ढाई करोड़ रुपए के बीच हो सकती है।

मोतीलाल को मिलेंगे इतने

मोतीलाल प्रजापति

हीरा कार्यालय हर साल जनवरी में खदान में मिले विभिन्न हीरों की नीलामी करता है। इस हीरे को भी जनवरी में नीलाम किया जाएगा। नीलामी में मिली राशि से सरकार की रॉयल्टी व जीएसटी कटने के बाद बची हुई राशि के मालिक मोतीलाल होंगे।

ऐसे करेंगे उपयोग

मोतीलाल प्रजापति

हीरा मिलने से मोतीलाल प्रजापति व उनका परिवार बहुत खुश है। इस राशि से उनके जीवन को एक नई दिशा मिलेगी। वो इस रकम से अपना भविष्य बेहतर बनाएँगे। साथ ही अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा देंगे। इतना ही नहीं मोतीलाल प्रजापति यह रकम अपने बाकी तीन साथियों में भी बांटने वाले हैं।

दूसरा सबसे बड़ा हीरा

मोतीलाल प्रजापति

बता दे कि पन्ना स्थित खदानों में आमतौर पर इतने बड़े आकार के हीरे नहीं मिलते पाते हैं। 42.59 कैरेट का यह हीरा इस क्षेत्र में मिला अब तक का दूसरा सबसे बड़ा हीरा है। 1961 में मिला 44.55 कैरेट का हीरा इलाके में मिला अब तक का सबसे बड़ा हीरा है।

पिछले महीने ही 14 सितम्बर को सरखोहा गांव में हल चलाते वक्त एक किसान के हाथ 12.58 कैरेट का हीरा लगा था और उसकी कीमत 30 लाख रुपए आंकी गई थी।

अगर आपको यह स्टोरी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर कीजिएगा।

Don't Miss! random posts ..