ENG | HINDI

खुद अपने बारे में ये बाते जानकर चकरा जाएगा आपका सिर

मानव स्‍वभाव की बातें

मानव स्‍वभाव की बातें – धरती पर सभी जीवों में सबसे ताकतवर और श्रेष्‍ठ जीव मनुष्‍य है।

मनुष्‍य के पास इतनी ताकत है कि वो किसी को भी अपने बल और बुद्धि से नष्‍ट कर सकता है। वैज्ञानिक भी मानव की ऐसी ही शक्‍तियों पर नज़र गड़ाए रहते हैं।

मानव स्‍वभाव के बारे में जानने की वैज्ञानिकों की उत्‍सुकता के कारण कई हैरतअंगेज़ तथ्‍य सामने आए हैं।

आज हम आपको मानव स्‍वभाव के कुछ ऐसे ही तथ्‍यों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनमें से कुछ को सुनकर आपको हंसी आ जाएगी तो वही कुछ पर आपको भरोसा ही नहीं होगा।

तो चलिए जानते हैं मानव स्‍वभाव की बातें ।

– मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि किसी भी इंसान को झूठ बोलने के लिए बहुत सारे मानसिक प्रयास करने पड़ते हैं। इसी कारण जब भी हम झूठ बोलते हैं तो छोटे-छोटे वाक्‍यों का प्रयोग करते हैं। झूठ बोलते समय बड़े-बड़े वाक्‍यों का इस्‍तेमाल करने में दिक्‍कत होती है।

– अगर आपको ये भनक लग जाए कि कोई आप पर नज़र रखे हुए है या आपको मॉनिटर कर रहा है तो आप बेहतर तरीके से काम कर पाते हैं। इसकी वजह ये है कि हर कोई खुद को दूसरों के सामने बेहतर साबित करना चाहता है।

– मानव स्‍वभाव में एक अजीब आदत होती है कि वो मीठी-मीठी बातें करने वाले इंसान पर जल्‍दी भरोसा कर लेता है फिर चाहे वो झूठ ही क्‍यों ना बोल रहा हो।

– आमतौर पर कोई भी इंसान एक समय पर दो काम नहीं कर पाता है लेकिन कई बार हम एक समय में दो काम करने की कोशिश करते हैं लेकिन असल में मनुष्‍य एक समय पर एक ही काम पर फोकस कर सकता है।

– वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च में इस बात का पता लगाया है कि मोबाइल पर की गई 37 प्रतिशत बातें झूठ पर आधारित होती हैं जबकि आमने-सामने बैठकर की गई बातें सच्‍ची होती हैं।

– वोटिंग लिस्‍ट में जिस उम्‍मीदवार का नाम सबसे पहले होता है वोटर उसे सबसे ज्‍यादा वोट देते हैं या उसके जीतने की संभावना ज्‍यादा होती है। आपको बता दें कि इसका कारण मानव स्‍वभाव है। मनुष्‍य का स्‍वभाव है कि वो नंबर वन की तरफ ज्‍यादा आकर्षित होता है।

– जिन लोगों में खुद में आत्‍मविश्‍वास कम होता है वो दूसरों को कम आंकते हैं और उन्‍हें नीचा दिखाने की कोशिश करते हैं। ये दूसरों को अपनी असफलताओं का जिम्‍मेदार मानते हैं।

–  आप किस जगह पर बैठे हैं वो भी आपके स्‍वभाव को नियंत्रित करती है। अगर आपके बैठने वाली जगह कठोर है तो इससे आपका स्‍वभाव भी कठोर हो जाएगा और आपके रिश्‍तों में जटिलता आ जाएगी।

– एक इंसान ज्‍यादा से ज्‍यादा 10 मिनट तक अपने ध्‍यान को एक जगह प केंद्रित कर सकता है। अगर आपको लगता है कि आप लबे समय तक एक ही जगह पर ध्‍यान केंद्रित कर सकते हैं तो आप गलत हैं। इसके अलावा मनुष्‍य कई बार गुस्‍से में निर्णय लेता है लेकिन उसे ऐसा नहीं करना चाहिए। ये निर्णय ज्‍यादातर गलत साबित होते हैं।

ये है मानव स्‍वभाव की बातें – तो दोस्‍तों ये थी मानव स्‍वभाव के बारे में कुछ जरूर बातें। मनुष्‍य, ईश्‍वर की सबसे खास और अनोखी रचना है जिसमें इतनी अनूठी बातें छिपी हैं।

Don't Miss! random posts ..