ENG | HINDI

क्या आपको भूतों पर नहीं है यकीन, तो ये रहा सुबूत!

भूतों पर यकीन

भूतों पर यकीन – आज के टेक्नोलॉजी युग में अगर कोई भूत-प्रेत की बात करता है तो हम उसे बेवकूफ समझते हैं.

आज की 21वीं सदी में लोगों के पास इतना वक्त नहीं है कि वे भूत-प्रेत की कहानियां सुन सकें. अक्सर लोग भूतों पर यकीन नहीं करते हैं लेकिन जो लोग तांत्रिक या अंधविश्वास पर भरोसा करते हैं उन्हें भूतों पर यकीन होता है. उनका मानना होता है कि भूत-प्रेत आज भी दुनिया में हैं और हमारे आसपास हवा के रूप में रहते हैं. वैज्ञानिकों ने भी भूतों के होने की बात से साफ इंकार किया है. उन्होंने नेगेटिव एनर्जी के बारे में रिसर्च की है, लेकिन भूत-प्रेत दिखाई देते हैं इन पर अभी कोई रिसर्च नहीं हुई है. लेकिन हैलोवीन से लेकर चीनी घोस्ट फेस्टिवल तक भूत हमारी जिंदगी और संस्कृति का हिस्सा बन गए हैं. हालांकि इस बात पर हजार सालों से विवाद चल रहा है कि भूत होते है या नहीं.

आज हम आपको कुछ ऐसी सच्ची घटनाएं बताने जा रहे हैं जिनको पढ़कर और उनकी तस्वीरें देखकर शायद आपको भूतों पर यकीन आ जाएं कि भूत-प्रेत के अस्तित्व को नकारा नहीं जा सकता है.

भूतों पर यकीन –

1. रेहम हॉल की ब्राउन लेडी (Brown lady of Raynham hall)

इंग्लैंड में एक हॉल स्थित है लोगों का मानना है कि उस हॉल में आज भी एक ब्राउन लेडी का साया घूमता रहता है. वह लेडी भूरे रंग के बूटेदार कपड़े पहने रहती है. उस ब्राउन लेडी का नाम लेडी डोरोथी है. जो चार्ल्स टाउनशेंड नामक व्यक्ति की दूसरी पत्नी थी. ब्राउन लेडी ने अपने पति के साथ विश्वासघात किया था जिसकी वजह से 1936 में उसे इस हॉल के एक कमरे में बंद कर दिया गया था. वह काफी दिनों तक उसमें बंद रही और आखिरकार उसकी मौत हो गई. कई लोगों के साथ जॉर्ज पंचम ने भी कहा था कि उन्होंने एक ब्राउन लेडी को देखा था. बाद में उन्होने उस ब्राउन लेडी की फोटो को लाइफ मैगजीन में भी प्रकाशित देखा था.

2. बैचलर ग्रोव कब्रिस्तान का भूत (Ghost of bachelor grove cemetery)

अकसर हम सभी मानते हैं कि कब्रिस्तान में भूत पाए जाते हैं. इसलिये लोग रात में वहां से निकलने में भी भय खाते हैं.ऐसा ही एक मामला शिकागों के बैचलर ग्रोव कब्रिस्तान में देखा गया. वहां पर कई अजीबोगरीब घटनाएं घट रही थी. जिसकी वजह से कब्रिस्तान को बंद कर दिया गया. वहीं साल 1999 में घोस्ट रिसर्स सोसायटी ने उस कब्रिस्तान में जाकर रिसर्च किया. उन्होंने वहां पर हाईस्पीड इंफ़्रारेड कैमरों से फोटोज़ क्लिक की. और जब फोटोग्राफ सामने आयीं तो उनके होश उड गये. तस्वीर में उन्हें एक पुराने जमाने की ड्रेस पहने लेडी दिखी थी, जो उस कब्रिस्तान में ऐसी हरकत करती थी, जिससे सामने वाले के होश उड़ जाते थे.

3. मुझे भूल गए क्या भाई ? (Ferguson ghost)

अक्सर प्यार को अजर-अमर माना गया है. ये दो रुह का मिलन होता है न कि दो शरीर का. ये प्यार प्रेमी-प्रेमिका के बीच, भाई-बहन के बीच और भाई-भाई के बीच भी हो सकता है. 1968 में अमेरिका के लॉस एंजिलिस में एक सम्मेलन के फोटोग्राफ में कुछ ऐसा दिखा कि लोगों ने भूतों पर यकीन करना शुरु कर दिया.

भूतों पर यकीन – दरअसल, जब 1968 में लॉस एंजिलिस में अध्यात्मवादी सम्मेलन में लेखक रोबर्ट ए फग्युर्सन भाषण दे रहे थे. और फोटोग्राफर उनकी तस्वीरें क्लिक कर रह थे. तभी एक फोटोग्राफर के फोटो में कुछ ऐसा कैद हुआ जिसने सभी हैरान कर दिया और वह फोटो उस सदी चर्चित घटना बन गई. जब फोटो को साफ किया गया तो रोबर्ट ए फग्युर्सन के पीछे एक इंसान का साया नजर आया, जिसकी जांच की गयी तो रोबर्ट ए फग्युर्सन ने बताया की वो उसके भाई वाल्टर का साया है, जिसकी मौत द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हो गयी थी. और उनका भाई उन्हें जान से भी ज्यादा चाहता था.

4. कब्र पर छोटे बच्चे का साया (Grave ghost)

अकसर कहा जाता है कि जिन लोगों की मौत असमय या दुर्घटना से हो जाती है उनकी आत्मा भटकती रहती है. कुछ ऐसा ही एक केस ऑस्ट्रेलिया में पाया गया. दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में श्रीमती एंड्रू अपनी बेटी की कब्र पर हमेशा फूल चढ़ाने जाती थी. एक दिन उन्होंने अपनी बेटी के कब्र की तस्वीर ली थी और जब उस फिल्म रोल को डेवलेप कराया तो उनके होशफाख्ता हो गये. क्योँकि फोटो में एक छोटे बच्चे का साया साफ़ साफ़ दिखाई दे रहा था, जो मिसेज एंड्रू को घूर-घूर कर देख रहा था. जब इस बच्चे की जांच कि गई तो पता चला कि श्रीमती एंड्रू की बेटी की कब्र के पास ही दो छोटी बच्चियों की कब्र भी थी, जो उस तस्वीर में दिखाई दे रही थी.

5. सेफ्टन चर्च का भूत (Sefton church ghost)

अक्सर माना जाता है कि मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारे में ईश्वर का वास होता है. उनके आसपास बुरी आत्माएं या भूत-प्रेत भटक तक नहीं सकते हैं. लेकिन हैरानी की बात तो यह है कि ग्रेट ब्रिटेने के एक चर्च में भूत की तस्वीर को कैद कर लिया गया था. यह तस्वीर सेफ्टन चर्च की थी. जहां पर भूतों से जुड़े किस्सों काफी मशहूर हैं. एक बार चर्च में प्रार्थना के दौरान आने वाले भक्त ने दूर खड़े काले साये को कैमरे में कैद किया था.

6. वर्स्टटीड चर्च में व्हाइट लेडी भूत (White lady ghost of wherstead church)

19वीं सदी की बात है. जब बर्थलॉट परिवार रोजाना चर्च में प्रार्थना करने जाता था. उस वक्त श्रीमती बर्थलॉट एंटीबायोटिक्स पर जी रही थी. वह खड़ी नहीं हो पाती थी इसलिये बेंच पर बैठकर प्रार्थना करती थी. एक दिन उनके पति ने उनकी तस्वीर ले ली.जब तस्वीरें बन कर आईं तो मिसेज बर्थलॉट के पीछे सफेद औरत बैठी हुई दिखाई दी. इसके बाद यह बात फैल गई कि अगर कोई भी व्यक्ति प्रार्थना के दौरान बैंच पर बैठता है तो  वह साया उसके पास आ जाता है.

7. डिसेबल होटल का भूत (Ghost of Disebal hotel)

साल 2008 में 33 साल की विक्टोरिया इवोन ने रोमानिया देश के डिसेबल होटल में एक काले साये वाली महिला की तस्वीर खींची थी.यह होटल रोमानिया देश का सबसे पुराना होटल है. लोगों का मानना है कि यह होटल एक बड़े प्राचीन जमीन में दफन खजाने के ऊपर बना है और यही काले सायी वाली महिला उसकी रक्षा करती है.

8. इंग्लैंड के हर्टफोर्डशर में फार्म भूत (Farm ghost)

साल 2008 में एक शादी में तस्वीरें खींचने के लिये फोटोग्राफर नील सेंडबैक इंग्लैंड के हर्टफोर्डशर के फार्म पर गए थे. वहां उन्होंने कुछ पिक्चर्स क्लिक की थी. इसके बाद नील ने जब फिल्म रोल को डेवलेप किया तो उनके होश उड़ गए. उन्हे तस्वीर में एक बच्चा खड़ा दिखाई दिया. तस्वीर में दिख रहे भूत का पता लगाने के लिये कुछ स्थानीय लोगों से पूछताछ की गई तो पता चला कि बहुत पहले यहां पुलिस मुठभेड़ में कई लोग मारे गए थे, जिसमें एक वह भूत वाला लड़का भी था.

9. सच्चा प्यार कभी नहीं मरता (Grandfather’s ghost)

अक्सर कहा जाता है कि प्यार अजर-अमर है वह कभी नहीं मरता है. वह जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी अपनों के आसपास ही रहता है. डेनिस रसेल अपने नाती-पोतों के साथ पिकनिक मनाने गई थी. वहां उन्होंने कई तस्वीरें खिंचवाई थी. उनकी एक तस्वीर में उनके पति का भूत दिखाई दिया था. कुछ साल बाद दादी डेनिस की भी मौत हो गई. जब साल 2000 में उनकी फैमिली ने क्रिसमस पार्टी के दौरान फैमिली एलबम देखा तो पाया कि उनकी स्वर्गीय दादी के पीछे उनके दादा जी खड़े थे.

10. लॉर्ड कॉम्बरमेर और उनकी पसंदीदा कुर्सी (Ghost of Lord Combermere)

आमतौर पर लोगों को निर्जीव वस्तुओं से भी काफी लगाव हो जाता है. चाहे वो पेन हो,किताब हो या कुर्सी हो. 18वीं सदी में लॉर्ड कॉम्बरमेर बारबडोस के गर्वनर थे. 1891 में उनकी सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. गर्वनर को अपने कैरियर के दौरान ऑफिस की लाइब्रेरी में रखी कुर्सी से बहुत लगाव था. उनके अंतिम संस्कार के दौरान सिबेल कॉर्बेट ने लाइब्रेरी में एक कैमरा लगा दिया था. जब खींची गई तस्वीरों को बनवाया गया तो कॉम्बरमेर अपनी प्यारी कुर्सी पर बैठे दिखाई दिए थे.

11. ग्रुप फोटो में साथियों के साथ (Ghost of Freddie Jackson)

साल 1919 में मैकेनिक फ्रेडी जैकसन की एक हादसे में मौत हो गई. अगले दिन उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया. ठीक दो दिन बाद स्क्वॉर्डन रॉयल नेवी वेसेल ने ग्रुप फोटो खिंचवाया. जब फोटो डेवलप होकर सामने आई तो किसी को भी अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ क्योंकि उस ग्रुप फोटो में मर चुके जैकसन भी शामिल थे.यह तस्वीर रिटायर्ड आरएएफ ऑफिसर सर विक्टर गॉडर्ड द्वारा ली गई थी.

भूतों पर यकीन – तो दोस्तों, आपको ये लेख पसंद आया होगा. हमें नीचे दिये गए कमेंट् बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें. धन्यवाद! ऐसी ही और रोचक ख़बरों के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहें.

Don't Miss! random posts ..