ENG | HINDI

दूल्हे की जगह लड़की को शादीशुदा बड़े भाई ने पहनाई वरमाला, मेहमानों ने की खूब धुलाई

बेटी की शादी

अपनी बेटी की शादी करने का सपना हर बाप देखता है।

पिता चाहे गरीब हो या अमीर वो अपनी हैसियत के हिसाब से बड़ी धूमधाम से शादी करता है लेकिन एक लड़की के पिता के साथ ऐसा हुआ कि पूरे समाज के आगे उसका मजाक बन गया।

रामचंद्र साहू ने कर्ज लेकर अपनी बेटी की शादी की तैयारियां की थीं लेकिन शादी वाले दिन जो हुआ वो देखकर हर कोई हैरान रह गया।

रामचंद्र साहू ने जिस परिवार में अपनी बेटी की शादी तय की थी उन्‍होंने उसके साथ धोखा कर दिया वो भी ऐन शादी वाले दिन। दरअसल, शादी वाले दिन दूल्‍हे की जगह उसका बड़ा भाई बैठ गया। लड़की वालों ने इस जालसाजी को पकड़ लिया। लड़की वालों ने पुलिस को सूचना दी और लड़के वालों के खिलाफ अपराध और धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई। शादी के टूटने के बाद से लड़की के पिता की तबियत खराब थी और इस घटना के एक महीने बाद उसकी मौत हो गई।

शादीशुदा भाई बन गया दूल्‍हा

लड़की वालों का आरोप है कि लड़के वालों से शादी की बाद छोटे बेटे के लिए हुई थी लेकिन शादी वाले दिन बड़े भाई को दूल्‍हा बनाकर मंडप में  बिठा दिया। बड़ा भाई पहले से ही शादीशुदा था। रामचंद्र साहू की बेटी की शादी परसाभाठाबालको निवासी दिनेश साहू के साथ तय हुई थी और उसकी सगाई भी दिनेश से ही हुई थी। लेकिन शादी वाले दिन दिनेश का बड़ा भाई दूल्‍हा बनकर पहुंच गया। दूल्‍हा गंजा था और इसे छिपाने के लिए उसने विग लगा लिया। वरमाला के समय उसकी सारी पोल खुल गई।

पिता की बिगड़ी तबियत

जब ये सारा मामला खुला तो बात पुलिस तक पहुंच गई। पुलिस ने लड़के वालों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। तीनों को जेल में डाल दिया गया। बेटी की इस तरह से शादी टूटने की वजह से लड़की का पिता पूरी तरह से टूट गया। इस बात का सदमा उसे लग गया और उसकी तबियत खराब रहने लगी। उसका उपचार अस्‍पताल में चल रहा था लेकिन ईलाज के दौरान ही उसकी मृत्‍यु हो गई। इस वजह से लड़की के परिवार में शोक का माहौल है। बताया जाता है कि मृतक एक छोटी सी दुकान चलाता था और यहीं से उसके परिवार का खर्च चलता था। शादी के लिए लड़की के पिता ने डेढ़ लाख का कर्ज लिया था जिसे चुकाना अब उसके लिए मुश्किल हो रहा है।

लड़की और उसके परिवार के साथ जो भी हुआ वो बहुत गलत था। उन्‍हें केवन भावनात्‍मक ठेस पहुंची बल्कि आर्थिक रूप से भी बहुत कष्‍ट झेलना पड़ा।

दोस्‍तों, आप मानें या ना मानें लेकिन हमारे देश और समाज में महिलाओं और लड़कियों की यही दुर्दशा होती है। कभी दहेज के नाम पर तो कभी सुंदर ना होने की वजह से लड़कियों की जिंदगी बर्बाद हो जाती है और खुद को समाज कहने वाले लोग मूक दर्शक बनकर सब कुछ देखते रहते हैं।

अगर बेटे पैदा करने वाले दूसरों की बेटियों की कद्र करना सीख जाएं तो कभी किसी की बेटी दुखी नहीं रहेगी और ऐसी घटनाएं भी कभी नहीं होंगीं।

 

Don't Miss! random posts ..