ENG | HINDI

इन फालतू वजहों से लड़ते हैं ज्यादातर कपल्स

कपल्स जो लड़ते है फ़ालतू वजहों से

कपल्स जो लड़ते है फ़ालतू वजहों से – जब दो लोग एकसाथ रहते हैं तो लड़ाई-झगड़े होना आम बात हो जाती है। रिलेशनशिप की शुरुआत में तो सब कुछ सुहावना लगता है लेकिन जैसे-जैसे समय बीतने लगता है और एक-दूसरे के बीच आकर्षण कम होने लगता है वैसे-वैसे लड़ाई-झगड़े बढ़ने लग जाते हैं।

कई बार तो छोटे-छोटे और बेकार, फालतू और मूखर्तापूण मुद्दों पर भी लड़ाई-झगड़े होने लगते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो समझ लें कि ऐसा सिर्फ आपके साथ ही नहीं होता है बल्कि हर कपल की यही कहानी है।

कपल्स जो लड़ते है फ़ालतू वजहों से –

हाल ही में ट्विटर पर #StupidThingsCouplesFightAbout  बहुत ट्रेंड कर रहा है और इस पर ट्विटर यूज़र्स का रिस्‍पॉन्‍स मज़ेदार था। टायलेट पेपर से लेकर गीले तौलिए तक पर कपल्‍स के बीच झगड़े होते हैं। इस पर कई लोगों ने अपने अनुभव भी शेयर किए।

चैन की नींद के लिए जिस तरह बैड की बेस्‍ट साइड के लिए लड़ाई करना बनता है उसी तरह अगर पार्टनर सोते वक्‍त जरूरत से ज्‍यादा खर्राटे ले और आपको उसकी वजह से नींद ना पाए तो लड़ाई होना स्‍वाभाविक है।

जब कपल्‍स के बीच लड़ाई हो रही होती है तो वो मौजूदा मुद्दे पर कम और बीती हुई बातों पर ज्‍यादा लड़ाई करते हैं। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि बीती हुई बात का आज की लड़ाई के मुद्दे से कोई संबंध है या नहीं।

एक महिला ने ट्विटर पर अपना अनुभव बताते हुए कहा कि उन्‍होंने अपने पति से आलू लाने के लिए कहा और उनके पति दो आलू लेकर आए, अब ऐसे में लड़ाई तो बनती ही है।

कपल्स जो लड़ते है फ़ालतू वजहों से – खाने में क्‍या बनाऊं.. यह पति-पत्‍नी के बीच लड़ाई का सबसे बड़ा या यूं कह लीजिए की  यूनिवर्सल मुद्दा है क्‍योंकि पत्‍नी जब पूछेगी तब पति कहेगा कुछ भी बना लो और जब कुछ भी बन जाएगा तो पति को यह पसंद नहीं आएगा। बस हो गई लड़ाई शुरु।

जब पत्‍नी पति से पूछे कि क्‍या वह मोटी लग रही हैं तो सवाल भी लड़ाई का बड़ा मुद्दा होता है क्‍योंकि अगर पति‍ सच बोलेगा तब भी लड़ाई होगी और अगर झूठ बोलेगा तो भी लड़ाई होगी। अब ऐसे में तो बेचारा पति फंस गया।

इन बातों को पढ़कर आप भी सोच में पड़ गए होंगें कि सच में कपल्‍स ऐसी फिजूल की बातों पर लड़ाई कर के अपना मूड खराब करते हैं लेकिन दोस्‍तों कोई और ही नहीं बल्कि आप भी अपने पार्टनर से कभी ना कभी ऐसी फिजूल की बातों पर झगड़े जरूर होंगें।

अगर आपको ऐसा नहीं लगता तो एक बार अपने पार्टनर से इस बारे में पूछें, वो आपकी गलतफहमी जरूर दूर कर देंगें। वैसे मेरी बात मानें तो जिंदगी जीने का असली मज़ा लड़ाई में नहीं बल्कि प्‍यार में है। अगर आप भी अपनी जिंदगी का भरपूर मज़ा लेना चाहते हैं तो अपने साथी को तानों की जगह प्‍यार दें और अपनी ईगो को साइड में रखकर उन्‍हें खुलकर प्‍यार करें। एक बार आपने ऐसा करना शुरु किया तो देखिएगा कि आपके पार्टनर के चेहरे पर मुस्‍कुराहट आती है।

आमतौर पर मर्द अपने ऑफिस का स्‍ट्रेस आकर अपनी पत्‍नी पर निकाल देते हैं लेकिन ऐसा करना बिलकुल सही नहीं है। वो आपकी परेशानियों में साथ देने के लिए इसका बोझ उन पर डालना बिलकुल सही नहीं है।

Don't Miss! random posts ..