ENG | HINDI

नेहरू को प्राइम मिनिस्टर चुनकर देश को ज़हर दिया था कांग्रेस ने

मोदी का कांग्रेस पर हमला

मोदी का कांग्रेस पर हमला – देश की आज़ादी से लेकर आब तक देश पर सबसे ज्यादा राज़ करने वाली सरकार कांग्रेस पार्टी की थी. देश को पहला PM भी इस पार्टी ने दिया था.

आज भी देश के पहले प्रधानमन्त्री को लेकर जनता में कई तरह का रोष देखने को मिलता है. कोई उन्हें पसंद करता है तो कोई उन्हें गाली देता है. असल में देश के उस नुर्ने का आज भी कई पार्टियाँ विरोध करती हैं.

उन्हें लगता है कि इस तरह का निर्णय नहीं होना चहिये थे. तब की बात को एक बार फिर से देश के वर्तमान प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने निंदा की है. मोदी का कांग्रेस पर हमला –

मोदी का कांग्रेस पर हमला – प्रधानमन्त्री ने कुछ दिन पहले ही ये बयान देकर मीडिया की सुर्खियाँ बटोर लीं.

वैसे देश के PM को सुनने के लिए लोग पलकें बिछाए रहते हैं, लेकिन नरेंद्र मोदी का अपना ही औरा है. कुछ दिन पहले लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान पीएम ने कहा कि जब 12 कांग्रेस कमेटियों ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को पहले प्रधानमंत्री के लिए चुना था और 3 कांग्रेस कमेटियों ने नोटा किया था, तब कैसे जवाहर लाल नेहरू को पहला प्रधानमंत्री बना दिया गया.

वो जनता के चहेते हैं. जब से pm बने हैं तब से उनकी सभी में लाखों की भीड़ जमा होती है.

मोदी जवाहरलाल नेहरू को उस समय के अनुसार PM बनने की होड़ में नहीं देखते.

वैसे ऐसा बहुत से नेता कहते हैं, लेकिन प्रधानमन्त्री का ये कहना सच में मायने रखता है. मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया है कि केंद्र में सत्ताधारी पार्टी के तौर पर 90 बार राज्य सरकारों को उखाड़ फेंका गया और लोकतंत्र को पनपने नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 90 बार धारा 356 का दुरुपयोग किया है.

मोदी एक के बाद एक कई आरोप कांग्रेस पर लगाएं. इतना ही नहीं कांग्रेस के युवराज पर भी मोदी ने जमकर हमला बोला था.

एक नेता होने के नाते नरेंद्र मोदी देश के हित की बात करते हैं. वो लगभग दूसरे नेताओं से थोड़े अलग हैं. अपने भाषण में मोदी ने कांग्रेस पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया और कहा कि आज भी कांग्रेस पार्टी की गलती की सजा देश भुगत रहा है. मोदी ने कहा कि आपके मुंह में लोकतंत्र शोभा नहीं देता. कृपा करके आप लोकतंत्र के पाठ मत पढ़ाइए. नरेंद्र मोदी के पूरे भाषण के दौरान एक बात तो साफ़ झलत रही थी कि कांग्रेस पार्टी पर उनका काफी गुस्सा है.

नरेन्द्र मोदी पटेल यानी सरदार बल्लभ भाई पटेल को लेकर कई बार कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए नज़र आए हैं. उनका कहना था कि ये कांग्रेस पार्टी उस समय पटेल को PM न चुनकर नेहरू के रूप में देश को ज़हर का प्याला दिया था. वो ज़हर आजतक देश को मार रहा है. ऐसे कई मुद्दे नेहरू खड़े करके चले गए जिसका भुगतान आज भी देश को करना पड़ रहा है. इसमें सबसे भारी मुद्दा कश्मीर का है.

मोदी का कांग्रेस पर हमला – मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर अपने उस भाषण पर जमकर प्रहार किया था. उनका कहना था कि कम से कम अब कांग्रेस पार्टी को अपने उस गलत फैसले के लिए पश्चाताप करना चाहिए. देश को उस ज़हर से बचाने के लिए अब प्रयास करना चाहिए और सरकार की नीतियों का विरोध करने की बजाय सहयोग करना चाहिए.

राजनितिक पार्टियों की बयानबाज़ी तो चलती रहती है. जो सत्ता में होता है विरोधी की जमकर बुराई करता है.

Don't Miss! random posts ..