ENG | HINDI

राजस्थान के इस गावं के सभी किसान खेती नहीं बल्कि एक्टिंग करते है!

चिरवा गाँव

चिरवा गाँव… पधारो मारो देश मा… राजस्थान..

भारत का एक ऐसा राज्य जो विश्वभर में प्रसिद्धि का प्रतिक बना हुआ है.

देसी हो या विदेशी सभी राजस्थान ज़रूर घुमना चाहते है, यही वजह है कि फिल्म शूटिंग के लिए राजस्थान फिल्मकारों की पहली पसंद है.

राजस्थान ही एकमात्र ऐसा राज्य बचा हुआ है, जहां हमारे संस्कृति की पुरानी सुनहरी यादें बची हुई है. इन यादो में पौराणिक मन्दिर, राजा महाराजाओं के भव्य किले, गीत-संगीत, एक से एक महारथी कलाकार  शामिल है.

लेकिन क्या आप जानते है कि राजस्थान का एक गावं ऐसा भी है, जहां के किसान खेती नहीं बल्कि फिल्मो में एक्टिंग करते है.

बल्कि हम तो ये कहते है कि इस गावं का हर एक सदस्य कभी ना कभी किसी ना किसी फिल्म में काम किया ही होगा.

जी हां आप ये जानकार हैरान हो जाएंगे कि राजस्थान के उदयपुर इलाके के चिरवा गाँव के किसान खेती नहीं बल्कि फिल्मो में एक्टिंग करते है.

दरअसल 2000 आबादी वाले इस चिरवा गाँव में बारहों महीने किसी ना किसी फिल्म या सीरियल की शूटिंग चलती ही रहती है, जिसमे ज्यादातर सभी गावं वालो को रोजाना काम मिल ही जाता है.

गावं वालो की मुताबिक़ यहाँ का हर एक नागरिक रोजाना 500 से 1500 रुपए तक कमा ही लेता है. इससे चिरवा गाँव वालो का फिल्मो में काम करने का सपना भी पूरा हो जाता है और घर का खर्चा भी निकल जाता है.

अब तक इस गावं में हज़ारो फिल्मो और सीरियल की शूटिंग हो चुकी है.

यही वजह है कि चिरवा गाँव वालो के रग रग में एक्टिंग बस चुकी है और उन्हें एक्टिंग करने में ज़रा भी परेशानी नहीं होती.

चिरवा गावं के मुखिया देवीलाल कहते है कि उनके गावं की सारे खेत जैसे के तैसे सालो पड़े रहते है. उनपर खेती नहीं की जाती, बल्कि उन खेतो को शूटिंग के लिए इस्तमाल में लाया जाता है.

राजस्थान सरकार को भी चिरवा गाँव का फिल्मो में काम करने को लेकर कोई आपत्ति नहीं है, बल्कि सरकार फिल्मकारों को इस गावं में शूटिंग करने के लिए विशेष टेक्स छूट भी देती है.

ऐसे में राजस्थान का चिरवा गाँव इस वक्त पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

Don't Miss! random posts ..