ENG | HINDI

तलाकशुदा लोगों के बारे में उड़ती हैं ये अफवाहें

तलाकशुदा

आज भी तलाकशुदा होना किसी टैबू से कम नहीं है।

अगर आप भी किसी तलाकशुदा इंसान को डेट कर रहे हैं तो आपको लोगों से तरह-तरह की बातें सुनने को मिलती हैं। आपको बता दूं कि ऐसे किसी इंसान से शादी करने के लिए आपको कई तरह के सवालों और लोगों की नज़रों से होकर गुज़रना पड़ता है।

आज हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जो तलाकशुदा लोगों के बारे में या उनसे किसी के शादी करने के दौरान बनती हैं।

तो चलिए जानते हैं कि तलाकशुदा लोगों के बारे में क्‍या अफवाहें उड़ती हैं।

तलाकशुदा

पहले रिश्‍ते में हो गए असफल

हम हर चीज़ और स्थिति को अलग-अलग नजर से देखते हैं और किसी ऐसे रिश्‍ते से बाहर निकलना जोकि बोझ बन गया हो उससे निकलना किसी के लिए गर्व की बात हो सकती है तो कोई इसे लेकर छोटी सोच रखता है। अगर आपका होने वाला लाइफपार्टनरतलाकशुदा है तो इसका ये मतलब बिलकुल नहीं है कि उनमें कोई कमी थी या वो असफल हो गए। उन्‍हें बस उस रिश्‍ते में अपने कंपैटिबल साथी नहीं मिला।

बच्‍चे होंगें

अगर आपके तलाकशुदापार्टनर का पहली शादी से कोई बच्‍चा नहीं है तो लोग ये मानने लगते हैं कि वोबच्‍चा पैदा कर पाने में सक्षम ही नहीं हैं। अगर उनका कोई बच्‍चा है भी तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आपको उनके बच्‍चों के साथ ऐसा रिश्‍ता बनाना चाहिए जिससे वो आपको भी स्‍वीकार कर लें।

दूसरी बार भी तलाक लेने में नहीं हिचकेंगें

ऐसा बिलकुल नहीं है। हर कोई तलाक से पहले अपने रिश्‍ते को बचाने की भरपूर कोशिश करता है। जब पानी सिर से ऊपर चला जाता है तभी कोई तलाक लेने का बड़ा कदम उठाता है। उनके पहले तलाक का ये मतलब बिलकुल नहीं है कि वो दूसरी बार भी झट से तलाक ले लेंगें। इस मामले में हमें ये सोचना चाहिए कि तलाक जैसा मुश्किल फैसला लेने के लिए उन्‍हें किस दौर से गुज़रना पड़ा होगा। अगर आपके साथ वो खुश हैं तो फिर वो कोर्ट क्‍योंजाएंगें।

तलाकशुदा मतलबी होते हैं

ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि कोई तलाक अपनी खुशी के लिए लेता हो। कभी-कभी अपने पार्टनर की खुशी के लिए भी तलाक का फैसला लेना पड़ता है। जब बार-बार घर में झगड़ा होता है और रिश्‍ते में प्‍यार बिलकुल खत्‍म हो चुका हो तो ऐसे रिश्‍ते को निभाने से सिर्फ तकलीफ ही मिलती है। अकसर लोग सोचते हैं कि तलाक लेने वाला इंसान सेल्फिश होता है।

झगडालू है स्‍वभाव

कोई भी इंसान झगड़ा नहीं करता है। अगर आपके पार्टनर का पहली शादी में अपने साथी से झगड़ा होता था तो ऐसा जरूरी नहीं है कि वो दूसरी शादी में भी वैसा ही करें। किसी के भी बारे में बात बनाने से पहले उन्‍हेंअच्‍छी तरह से जान लें। लोग बातें बनाते हैं कि तलाक लेने वाले इंसान का नेचर झगडालू होगा लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है।

तलाकशुदा

अगर आपके आसपास भी कोई तलाकशुदा इंसान है तो आपको उसके बारे में बाते बनाने की बजाय उन्‍हें इमोशनल सपोर्ट करना चाहिए। उनकी मन: स्थिति को समझने की कोशिश करें।

Article Categories:
संबंध

Don't Miss! random posts ..