ENG | HINDI

महाराजाओं को लुभाने के लिए कुछ ऐसे तरीके अपनाती थी रानियाँ !

रानियों की खूबसूरती के उपाय

रानियों की खूबसूरती के उपाय – गुज़रे ज़माने के राजा महाराजाओं और उनकी खूबसूरत रानियों की तस्वीर को देखकर आप भी अक्सर ऐसा सोचते होंगे कि उनकी ज़िंदगी कितनी खूबसूरत है।

जी हां, इन राजाओं और रानियों के शाही अंदाज़ को देखकर आपके मन में भी कई ख्याल आते होंगे कि आखिर उनकी खूबसूरती और रोमांटिक अंदाज़ का क्या राज़ है?

अगर आपने इन राजाओं और उनकी रानियों की तस्वीरें देखी हैं तो आप भी इनके मुरीद ज़रूर होंगे और इनकी ज़िदंगी के बारे में कई ख्वाब भी देखते होंगे।

खासकर, अगर पुराने ज़माने की रानियों की बात करें तो वे बेहद ही खूबसूरत हुआ करती थीं. ये रानियां इतनी खूबसूरत हुआ करती थीं कि इनकी खूबसूरती का कोई भी दीवाना हो सकता था, बला की खूबसूरत सी ये रानियां अपनी खूबसूरती को बनाए रखने के लिए कई जतन किया करती थीं।

जी हां, रानियों की खूबसूरती के उपाय  – तभी तो ये रानियां, राजाओं के दिल पर राज किया करती थीं औऱ उन्हें लुभाने के लिए कई तरीके भी आज़माया करती थीं, ऐसे तरीके जो शायद आप जानते नहीं होंगे।

हम आपको बता दें कि इन बातों का जिक्र आपको पुरानी ऐतिहासिक किताबों में मिल जाएगा।

रानियों की खूबसूरती के उपाय –

पुराने वक्त में रानियां अपनी स्किन को सॉफ्ट और ग्लोरियस बनाने के लिए नहाने के पानी में गुलाब की पत्तियां डाला करती थीं और चंदन और मुल्तानी मिट्टी के लेप का इस्तेमाल भी किया करती थीं।

जी हां, इस लेप से रानियों की त्वचा में विशेष निखार आ जाता था जिससे वो राजाओं को आकर्षित किया करती थी।

रानियां, अपनी त्वचा में निखार और ब्राइटनेस लाने के लिए मदिरा में अंडे का सफेद हिस्सा मिलाकर लगाया करती थी और अपनी त्वचा की रंगत को पूरी तरह बदल दिया करती थी।

साथ ही साथ ये रानियां नहाने के लिए भी सादा पानी नहीं बल्कि गुलाबजल और दूध डालकर नहाया करती थीं, इससे उनकी त्वचा में फ्रेशनेस बनी रहती थी और वो बड़ी ही आसानी से राजाओं को अपनी ओर आकर्षित किया करती थी।

रानियों के नहाने का तरीका बेहद ही खास होता था। वह साधारण पानी से नहीं बल्कि उसमें गुलाबजल और दूध डालकर नहाती थीं। इससे उनकी त्वचा कोमल और स्वच्छ बनी रहती थी। इससे उनके चेहरे पर ज्यादा निखार आता था। वह ऐसा राजाओं को अपनी ओर रिझाने के लिए किया करती थीं।

सिर्फ यही नहीं, आज जिसे हम परफ्यूम के तौर पर इस्तेमाल किया करते थे, उसे पुरानी रानियां ताज़ा फूलों के रसों से निकाला करती थी, फूलों के रस को महीन तरीके से रानियां अपने कपड़ों पर लगा लेती थीं जिससे की उनका वस्त्र पूरा दिन सुगंधित रहता था। वह राजा-महाराजाओं को आकर्षित करने के लिए ऐसा करती थीं और उनका यह तरीका काम भी आता था।

पहले के वक्त में जिम भी नहीं होते हैं इसलिए रानियां शारीरिक कौशल के कई काम किया करती थीं जैसे कि तलवार बाज़ी, घुड़सवारी और शारीरिक व्यायाम किया करती थीं और इससे वो ऐसी फिगर पा लेती थीं जो आज लड़कियां जिम में जाकर भी नहीं पा सकती।

वैसे पुराने वक्त में पेंटिग्स में आपने देखा होगा कि रानियां पूरे कपड़े पहना करती थीं लेकिन ऐसा हमेशा नहीं हुआ करता था, शयन कक्ष में जाते वक्त रानियां अतिरिक्त सभी कपड़े उतार दिया करती थी।

ये है रानियों की खूबसूरती के उपाय  – आखिर गुज़रे ज़माने में रानियां इतनी खूबसूरत क्यों हुआ करती थी और उस खूबसूरती को बनाए रखने के लिए वो कितने पापड़ बेला करती थीं।

Don't Miss! random posts ..