ENG | HINDI

वैज्ञानिकों का कहना केरल के बाद इस राज्‍य में आएगी तबाही !

केरल

स्‍वयं भगवान की धरती कही जाने वाली केरल पर इस समय ईश्‍वर का कहर बरपा रहा है। मसूलधार बारिश की वजह से पूरा केरल पानी में डूब चुका है और इस राज्‍य के 13 से भी ज्‍यादा जिलों में पानी भर चुका है।

सीएम पिनारायी विजयन ने बताया कि अब तक 19,500 करोड़ की प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचा है।

पिछले 100 सालों में केरल जैसी प्राकृतिक आपदा का मंजर अब तक देखने को नहीं मिला था। यहां पर लोग बिना बिजली और खाने के जीवन बसर कर रहे हैं। स्‍थानीय विधायक अब्राहिम का कहना है कि राज्‍य के कई लोग तो घर की पहली मंजिल तक पानी भर जाने की वजह से घंटों तक छतों पर बैठे रहते हैं। अब हालात और भी ज्‍यादा बदतर होते जा रहे हैं और इसी वजह से केरल राज्‍य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

केरल को इस मुसीबत से उबारने के लिए पीएम मोदी ने राज्‍य को 500 करोड़ की मदद देने की बात कही है। साथ ही उन्‍होंने हर परिवार को 2 लाख रुपए की मदद और जिन लोगों को गंभीर चोटें आई हैं उन्‍हें राष्‍ट्रीय राहत कोष से अतिरिक्‍त 50 हज़ार रुपए की मदद दी जाएगी।

बाढ़ की वजह से तहस-नहस हुए केरल ने अब राहत की सांस ली है। अब धीरे-धीरे जनजीवन सामान्‍य हो रहा है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है।

वैज्ञानिकों की मानें तो केरल जैसी तबाही अब एक और राज्‍य में देखने को मिल सकती है।

इस राज्‍य में आएगी केरल जैसी तबाही

वैज्ञानिकों का कहना है कि केरल के बाद अब कर्नाटक पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। वैज्ञानिकों ने चेतावनी जारी की है कि आने वाले दिनों में इससे भी भयानक रूप देखने को मिल सकता है।  

मौसम बरसा सकता है कहर

नेचर कम्‍युनिकेशंस जर्नल में प्रकाशित हुई रिपोर्ट के अनुसार उत्तरी अमेरिका, यूरोप और एशिया के कई हिस्‍सों में अत्‍यधिक प्रलयकारी मौसम अपना कहर दिखा सकता है। वैज्ञानिकों के अनुमान के अनुसार कर्नाटक में केरल से भी ज्‍यादा बुरी और भयंकर बाढ़ आ सकती है।

ग्‍लोबल वार्मिंग है कारण

वैज्ञानिकों का कहना है कि केरल में आई बाढ़ ग्‍लोबल वार्मिंग का नतीजा है।

इंसानों द्वारा किया गया ग्रीन हाउस गैसों का उत्‍सर्जन पूर्व की ओर बहने वाली हवाओं में रुकावटें उत्‍पन्‍न करता है और इसकी वजह से गर्मी के मौसम की समय अवधि बढ़ जाती है। इसके बाद बारिश भी जरूरत से ज्‍यादा होती है। ग्रीन हाउस गैसों की वजह से बढ़ रही ग्‍लोबल वार्मिंग प्रकृति के बने बनाए ढांचे को बिगाड़ रही है।

ग्‍लोबल वार्मिंग के चलते मौसम चक्र में आगे आने वाले समय में गर्मी और बारिश का भयंकर प्रकोप झेलना पड़ेगा।

कर्नाटक में बाढ़ जैसे हालात

कर्नाटक के कोडगू जिले में लगातार बारिश हो रही है। इससे यहां पर बाढ़ के हालात बन चुके हैं। इस राज्‍य के मलनाड जिले में भी बाढ़ के आससार हैं। दोनों जिलों में बीते 10 दिनों में 12 लोगों की मौत हो चुकी है।

इस सबको देखते हुए माना जा रहा है कि वैज्ञानिकों की चेतावनी सच साबित हो सकती है। कर्नाटक राज्‍य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

Article Categories:
भारत

Don't Miss! random posts ..