ENG | HINDI

सर्च इंजन गूगल के बारे में संपूर्ण जानकारी

सर्च इंजन गूगल

सर्च इंजन गूगल – हर किसी के लिए गूगल अब अंजान नहीं रहा है।

सर्च इंजन के तौर पर गूगल ने यूजर्स को विस्तृत प्लेटफॉर्म प्रदान करवा दिया है, जिसमें यूजर्स गूगल की सुविधानुसार अपने-अपने कार्य संपन्न कर सकते हैं। मगर जो आपके जीवन में बदलाव लेकर आया है क्या आप उसके यानि गूगल के बारे में जानकारी रखते है।

जी, हां..गूगल संपूर्ण जानकारी का एक यूजर्स फ्रेंडली प्लेफॉर्म है। जिसके इस्तेमाल से कई लोग अपना जीवन सुखमय जी रहे हैं। बावजूद गूगल की सुविधाओं से लोग इसके बारे में पूर्ण जानकारी नहीं रखते हैं।

तो पढ़ते हैं सर्च इंजन गूगल के बारे में विस्तृत जानकारी।

सर्च इंजन गूगल

१ – गूगल से पहले सर्च इंजन की शुरुआत का इतिहास

गूगल की शुरुआत 1996 में एक रिसर्च परियोजना के दौरान लैरी पेज़ तथा सर्गेई ब्रिन ने की थी। उस वक्त लैरी और सर्गी स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय, कैलिफोर्निया में पी।एच।डी के छात्र थे। उस समय पारम्परिक सर्च इंजन से गणना होती थी, लेकिन लैरी और सर्गेई के अनुसार एक अच्छा सर्च सिस्टम वह होगा जो वेबपेजों के संबंध का विश्लेषण करे। उनके इस विचार के मुताबिक नयी तकनीक का नाम पेजरैंक रखा गया था। हालांकि लैरी और सर्गेई ने अबतक सर्च इंजन का सफल खोज नहीं किया था।

इसी वर्ष लैरी और सर्गेई ने बैकरब नाम का सर्च इंजन की शुरुआत की थी। जोकि किसी साइट की वरीयता तय करता था।

२ – गूगल की खोज

एक वर्ष से सर्च इंजन पर हो रहे आविष्कार का अब अंत हो गया था। और लैरी और सर्गेई ने अपने सर्च इंजन का नाम गूगल रखा। गूगल अंग्रेजी के शब्द गूगोल की गलत वर्तनी है। यह सर्च इंजन इस बात को स्पष्ट करता था कि यह लोगों को संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाने में सक्षम होगा। शुरुआत में गूगल स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय की वेबसाइट के अधीन google.stanford.edu नामक डोमेन से चला। मगर 15 सितंबर 1997 को गूगल का नाम बतौर डोमेन के रूप में पंजीकृत हुआ। कम्पनी का पहला कार्यालय लैरी और सर्गेई की दोस्त वोज्सिकि के गराज मेनलो पार्क, कैलिफोर्निया में स्थापित हुआ था।

सर्च इंजन गूगल

गूगल नामक डोमेन मिलने के बाद बारी थी फंडिग की, जिसमें साथ दिया एंडी बेचल्स्हिम्स और तीन अन्य एंजेल निवेशकर्ता ने। इनकी फंडिग से गूगल के पास वर्ष 1998-1999 में तकरीबन 25 मिलियन डॉलर की राशि उपलब्ध हो गयी थी। जो किसी स्टार्टअप को शुरू करने के लिए सही थी।

३ – गूगल का विकास

वर्ष 1999 के समय गूगल ने अपना कार्यालय कैलिफोर्निया के पालो आल्टो में बनाया था। इसके एक साल बाद गूगल ने बेचने एवं प्रचार करने का काम, कीवर्ड तकनीकी से शुरु किया था। वर्ष 2001 में अपने पेज रैंक मैकेनिज्म के लिए गूगल को पेटेंट प्राप्त हो गया। वर्ष 2003 में गूगल ने अपना ऑफिशियल कोम्प्लेक्स ,एम्पीथिएटर पार्कवे, माउंटेन व्यू कैलिफोर्निया में स्थापित किया था। इसके दो साल बाद गूगल में 1 बिलियन विजिटर की संख्या रिकॉर्ड की गयी थी। जिसमें विभिन्न वेबसाइटो को देखने वाले यूजर्स थे। वर्ष 2013 में गूगल ने कैलिफो नाम के एक कंपनी का गठन किया था, जिसे एप्पल आईएनसी के साथ संलग्न रखा गया। वर्ष 2016 में कंपनी ने 18वें वर्ष का जश्न मना कर गूगल के डूडल से गूगल की सफलता के बारे में बताया।

सर्च इंजन गूगल

४ – गूगल की सेवाएं

वर्ष 1997 से अबतक गूगल ने अपना चहुमुखी विकास किया है। जिसमें निरंतरता देखी जा रही है। इसके साथ गूगल यूजर्स को यह चार तरह की सेवाएं भी उपलब्ध करवाता है।

सर्च इंजन गूगल

1 गूगल कंज्यूमर सर्विस

2 गूगल पर आधारित सेवाएं

3 सॉफ्टवेयर पर आधारित सेवाएं

4 हार्डवेयर पर आधारित सेवाएं

ये है सर्च इंजन गूगल के बारे में  – यह लेख पढ़ने के बाद क्या आप यह सोच रहे थे कि आप गूगल के बारे में संपूर्ण जानकारी रखते हैं ?। यदि नहीं तो यह लेख पढ़ना  सही विकल्प है ।

Don't Miss! random posts ..