ENG | HINDI

इस देश में है दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान जहाँ लोग देखने आते है !

दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान

दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान – जीवन है तो मृत्‍यु भी है। जीवन का सबसे बड़ा सत्‍य मृत्‍यु है जिसे बड़े से बड़ा व्‍यक्‍ति भी नकार नहीं सकता है।

जीवन लेकर मनुष्‍य धरती पर आता है मरणोपरांत उसे कब्रिस्‍तान या श्‍मशान घाट ले जाया जाता है।

मुस्लिम धर्म में मृत्‍यु के बाद शव को कब्रिस्‍तान ले जाकर दफना दिया जाता है, वहीं हिंदू धर्म में शव का अंतिम संस्‍कार कर दिया जाता है। यूं तो दुनिया के हर कोने में कब्रिस्‍तान मौजूद हैं लेकिन आज हम आपको दुनिया के सबसे बड़े कब्रिस्‍तान के बारे में बताने जा रहे हैं। इस कब्रिस्‍तान में हर दिन सैकड़ों शव दफनाए जाते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया के इस सबसे बड़े कब्रिस्‍तान में करीब 50 लाख से भी ज्‍यादा शव दफन हैं।

आइए देखते हैं दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान ।

दुनिया का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान –

ईराक  के नज़फ शहर में स्थित पीस वैली कब्रिस्‍तान को संसार का सबसे बड़ा कब्रिस्‍तान माना जाता है। ईराक  में इस समय कई आतंकी हमले हो रहे हैं और ये सिलसिला आज से नहीं बल्कि सालों से चल रहा है। इस वजह से ईराक  में हर रोज़ 200 से ज्‍यादा शवों को दफनाया जाता है। अब तक 50 लाख शिया मुस्लिमों के शव इस कब्रिस्‍तान में दफनाए जा चुके हैं।

इस कब्रिस्‍तान की खास बात ये है कि यहां पर सिर्फ ईराक  वासियों को ही नहीं दफनाया जाता है। ये कब्रिस्‍तान इतना बड़ा है कि हर साल लाखों लोग इसे देखने के लिए आते हैं। इस तरह आप इस जगह को पर्यटन स्‍थल भी कह सकते हैं।

आईएसआईएस से पहले यहां पर हर साल दफनाए जाने वाले लोगों की संख्‍या 80 से 120 तक होती थी लेकिन अब यहां हर दिन करीब 150 से 200 शफों को दफनाया जाता है। अन्‍य कब्रिस्‍तानों की तुलना में ये संख्‍या काफी ज्‍यादा है।

इस कब्रिस्‍तान में एक मकबरा भी बना हुआ है और आईएसआईएस से मुकाबला करने से पहले लड़ाके इस जगह जरूर आते हैं और यहां आकर ये मन्‍नत मांगते हैं कि अगर जंग में उनकी मौत हो जाए तो उन्‍हें इसी कब्रिस्‍तान में दफनाया जाए। इन कब्रों को ईंटों, प्‍लास्‍टर और कैलीग्राफी से सजाया जाता है।

पिछले कुछ सालों में ईराक आतंकवादी संगठनों का गढ़ बन गया है और इस वजह से यहां रहने वाले लोगों को ईराक छोड़ कर दूसरे देशों में प्रवास करना पड़ रहा है।

आतंकवादी संगठनों की वजह से ईराक के मूल नागरिकों को अपना घर-संपत्ति सब छोड़कर जान बचाने के लिए भागना पड़ रहा है। इसमें बच्‍चे और महिलाएं दोनो शामिल हैं। यहां तक कि आईएसआईएस संगठन ईराक जैसे अन्‍य कई देशों पर हमला कर महिलाओं और छोटी बच्चियों को सेक्‍स स्‍लेव बना रहा है।

अगर आतंकवादी संगठनों के हमले ऐसे ही चलते रहे तो ईराक तो क्‍या दुनिया के हर देश में एक इतना बड़ा कब्रिस्‍तान बनाना पड़ेगा। दुनियाभर को मिलकर आतंक को रोकने की जरूरत है वरना देश ता क्‍या हमारे दिल में भी एक कब्रिस्‍तान बन जाएगा जहां हमारे अपने ही दफन होंगें। आतंकवाद दुनिया के लिए ज़हर से भी ज्‍यादा बदतर है।

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो नीचे कमेंट लिखकर हमें जरूर बताएं।

Don't Miss! random posts ..