ENG | HINDI

अब महिलाओं को दी जायेगी खड़े होकर टॉयलेट करने की ट्रेनिंग, जानिए क्यों?

महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना

महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना – अभी हाल ही में एक ऐसी खबर सामने आई है जो कि महिलाओं से जुड़ी है।

इस खबर में महिलाओं को पुरुषों की तरह खड़े होकर टॉयलेट करने की ट्रेनिंग दी जाने की बात कही जा रही है।

दरअसल ये मामला ऑस्ट्रिया का है, जहाँ पर ग्रीन पार्टी नाम की एक पॉलिटिकल पार्टी ने ये फैसला किया है कि अब महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना मुमकिन होगा और जिसके लिए ट्रेनिंग दी जाएगी।

इसके लिए इस पार्टी ने एक स्पेशल मीटिंग बुलाने का फैसला किया है।

आपको बता दें कि ऑस्ट्रिया की ये ग्रीन पार्टी अक्सर सोशल और पोलिटिकल मुद्दों पर चर्चा करने के लिए विमेंस ब्रेकफास्ट का आयोजन करती है, जिसमें इस बार का मुद्दा गंदे पब्लिक टॉयलेट में महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना मुमकिन होगा क्योंकि उसकी तरकीब सिखाई जाने की बात की जा रही है।

महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना

ख़बरों के मुताबिक इस बार की मीटिंग में पेशाब करने से जुड़ी समस्याओं पर विचार किया जाना है।

उन लोगों का मानना है कि अक्सर टॉयलेट्स की कमी के कारण महिलाओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए महिलाओं को खड़े होकर पेशाब करने की ट्रेनिंग देने पर विचार किया जा रहा है। अक्सर महिलाएं संगीत महोत्सव, खेल के आयोजनों और दूसरी सार्वजनिक जगहों पर टॉयलेट्स नहीं होने या कम संख्या में टॉयलेट्स बने होने की वजह से मुसीबतों का सामना करती है।

लेकिन ग्रीन पार्टी की इस पहल से महिलाएं अब पुरूषों के लिए बने गंदे सार्वजानिक शौचालयों में भी इस तरीके का इस्तेमाल कर पेशाब कर सकती है और परेशानी से बच सकती है। इतना ही नहीं इस बैठक के आयोजकों का कहना है कि महिलाओं को यह निर्देश दिया जाएगा कि वे किस तरह से ऐसे उपकरण बना सकती है जिनकी मदद से महिलाओं का खड़े होकर पेशाब करना मुमकिन हो सकेगा।

आपको बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब महिलाओं को पुरुषों की तरह खड़े होकर पेशाब करने की बात कही जा रही है। इससे पहले भी कुछ उपकरण और डिवाइसेस बन चुकी है जिसकी मदद से महिलाएं खड़े होकर पेशाब कर सकती है।

Don't Miss! random posts ..