ENG | HINDI

मुश्किल में सबसे पहले भगवान को याद करता है इंसान ! लेकिन क्यों ?

मुश्किल में भगवान को याद करना

मुश्किल में भगवान को याद करना – आजकल लोग अपनी लाइफ में इतना ज्‍यादा बिजी हैं कि उनके पास पार्टी करने के लिए तो समय है लेकिन पूजा-पाठ करने के लिए वक्‍त नहीं है। ऐसा मेरे और आपके साथ अकसर होता है कि समय की कमी के कारण हम भगवान से आराधना नहीं कर पाते हैं।

भले ही आप सामान्‍य समय में भगवान को याद ना करें लेकिन कोई मुसीबत या मुश्किल में भगवान को याद करना । कुछ लोग तो भगवान को अपनी मुसीबत के लिए कोसने ही लग जाते हैं कि आपने हमारे साथ ही ऐसा क्‍यों किया।

क्‍या आपने कभी सोचा है कि हम बुरे वक्‍त में सबसे पहले भगवान को ही क्‍यों याद करते हैं और बाकी समय की तुलना में मुश्किल समय में ही ईश्‍वर की याद क्‍यों आती है।

आपने अगर ध्‍यान दिया हो तो आपके मन से भी ये बात निकली ही होगी कि हे भगवान तूने हमें ये मुसीबत में क्‍यों डाला और इसके लिए हमें ही क्‍यों चुना?

मुश्किल में भगवान को याद करना –

ऐसा ख्‍याल आपके मन में भी आता होगा और मेरे में भी आता ही है लेकिन सोचने वाली बात तो ये है कि जिस भगवान का नाम लेना हम भूल जाते हैं वो हमें मुश्किल समय में सबसे पहले क्‍यों याद आता है।

दरअसल, आजकल इंसानों के बीच जो रिश्‍ता है वो ‘गिव एंड टेक’ का चल रहा है यानि की आप जैसा करेंगें सामने वाला आपके साथ वैसा ही व्‍यवहार करेगा लेकिन ईश्‍वर के साथ ऐसा नहीं है। उनके लिए उनके सभी बच्‍चे एक समान हैं और कहीं ना कहीं आपको भी ये बात पता होती है। इसी वजह से आप मुश्किल समय में भगवान को याद करते हैं। आप जानते हैं कि आपकी मुश्किल को किसी इंसान से पहले भगवान दूर कर सकते हैं।

मनुष्‍य और ईश्‍वर के बीच एक ऐसा रिश्‍ता है जो दिखाई तो नहीं देता लेकिन महसूस जरूर किया जा सकता है। आप मानें या मानें मनुष्‍य की तरह संसार में दैवीय शक्‍तियां भी हैं और ईश्‍वरीय शक्‍तियां भी मौजूद हैं। हम इन शक्‍तियों को देख तो नहीं सकते हैं लेकिन उन्‍हें महसूस जरूर कर सकते हैं।

अगर आप ध्‍यान लगाकर सोचें और अपने पिछले किसी अनुभव या मुश्किल समय के बारे में सोचें तो आपको ज्ञात होगा कि कभी ना कभी आपके जीवन में भी कोई ऐसा क्षण आया होगा जब आपको ईश्‍वर के होने का अहसास हुआ हो। जब आपको लगा हो कि ईश्‍वर की कृपा वजह से ही आप इस मुश्किल से निकल पाए हैं वरना तो ना जाने आपका क्‍या होता है।

हम भले ही रोज़ पूजा-पाठ ना करते हों लेकिन कहीं ना कहीं हमारे मन में ये विश्‍वास जरूर होता है कि भगवान हमारे साथ हैं और वो हर वक्‍त हर मुश्किल में हमारा साथ देंगें। बस यही विश्‍वास हमे हमारे ईश्‍वर से जोड़ता है। आपको भी इस बात पर यकीन होगा कि ईश्‍वर का अस्‍तित्‍व है और वो हमें सुरक्षा प्रदान करते हैं।

मुश्किल में भगवान को याद करना – ऐसे कई मौके आए हैं जब हमें ईश्‍वर की ताकत का अहसास हुआ हो। ज़रा आप भी इस बारे में सोचकर देखिए।

Don't Miss! random posts ..