ENG | HINDI

इस्लामी आतंकवादी रूसी राष्ट्रपति पुतिन से आखिर इतना डरते क्यों हैं !

राष्ट्रपति पुतिन

एक समय था जब आए दिन रूस में आतंकी हमले होते रहते थे.

बेसलान की घटना के बाद राष्ट्रपति पुतिन ने वो फैसला लिया जिसके बाद आतंकवादियों ने कभी रूस के लोगों की ओर आंख उठाने की हिम्मत नहीं की.

हाल में पुतिन ने दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी संगठन आईएसआईएस को धमकी दी है कि यदि उसने रूस की धरती पर कदम रखा तो वह दुनिया से उसकी नस्ल को ही मिटा देगा.

राष्ट्रपति पुतिन

रूस उनके खात्में के लिए परमाणु मिसाइलों को चलाने से भी नहीं हिचकिचाएगा.

आपको बता दे कि आतंकवादियों में पुतिन का इतना खौफ है कि वे कभी किसी रूसी नागरिक का अपहरण तक नहीं करते हैं. पुतिन अपने दुश्मनों से इस प्रकार निपटता है कि उनकी रूह कांप जाती है. वह जिंदा आतंकियों के शरीर को बहुत ही क्रूर तरीके से काटकर उनको मौत की नींद सुला देता है. इसके अलावा वह उनका अंतिम संस्कार भी गैर इस्लामी रीति से कर उनके जिहाद के मकसद को ही खत्म कर देता है.
यही नहीं, आतंकियों से बदला लेने के लिए रूस विदेशों में आराम की जिंदगी गुजार रहे दहशदगर्दो के परिवारों को अपनी खुफिया एजेंसी के जरिए मरवा देता है. दूसरों के बच्चों और परिवार को बेहरमी से कत्ल करने वाले आतंकियों को जब अपने लोगों का दर्द होता है तो वह घबरा जाता है.

राष्ट्रपति पुतिन

वर्ष 2004 में रूस के बेसलान शहर में आतंकवादियों ने स्कूल में घुसकर 186 बच्चों सहित 300 लोगों का बेरहमी से कत्ल कर दिया. पुतिन के राष्ट्रपति बनने से पहले आतंकवादियों ने वर्ष 1999 में राजधानी मास्को में घुसकर नागरिक बस्तियों में बम विस्फोट के द्वारा 300 से अधिक निर्दोष नागरिकों की हत्या कर दी थी.

राष्ट्रपति पुतिन

रूस की खुफिया एजेंसी केजीबी के प्रमुख रहे पुतिन ने रूस का राष्ट्रपति बनने के बाद आतंकवादियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

राष्ट्रपति पुतिन

कश्मीर की तरह रूस के मुस्लिम बहुल स्वशासी क्षेत्र चेचन्या के मुस्लिम अलगाववादी रूसी संघ से अलग होने के लिए सशस्त्र गुरिल्ला युद्ध चला रहे थे. बेसलान की घटना के बाद राष्ट्रपति पुतिन ने इस आतंकवाद को जड़मूल से मिटाने का संकल्प लिया. राष्ट्रपति पुतिन ने दुनिया की परवाह न करते हुए आतंकियों के विरुद्ध सेना को मैदान में उतार दिया.

राष्ट्रपति पुतिन

रूसी विमानों, हेलीकाप्टरों और रूसी टैंकों के साथ रूसी फौज चेचन्या में प्रवेश कर गयी. वहां आतंकवादियों के तमाम गुरिल्ला ठिकानों पर बम गिराकर उनको ध्वस्त कर दिया.

यही कारण है कि आतंकवाद को लेकर स्पष्ट और कठारे नीति के दम पर राष्ट्रपति पुतिन ने रूस की जनता को आतंकवाद से एक प्रकार से भयमुक्त कर दिया है.

Don't Miss! random posts ..