ENG | HINDI

ब्‍वॉयफ्रेंड को डंप करने से पहले क्‍यों एक बार भी नहीं सोचती लड़कियां

ए‍क रिश्‍ते को सफल बनाने के लिए प्‍यार, विश्‍वास और एक-दूसरे के प्रति समर्पण भाव होना बहुत जरूरी होता है। अकसर कहा जाता है कि लड़कियां बड़ी जल्‍दी लड़कों को डंप कर देती हैं लेकिन क्‍या आपने कभी सोचा है कि वो इतना बड़ा फैसला क्‍यों लेती हैं या इसके पीछे क्‍या वजह हो सकती है ?

आज हम इसी बात का जवाब जानेंगें।

विश्‍वासघात

अकसर लड़के अपनी गर्लफ्रेंड होने के बाद भी दूसरी लड़कियों से चैट या बातें करते हैं, कुछ लड़के तो रंगे हाथों पकड़े जाते हैं। ऐसी स्थिति में भला कोई भी लड़की कैसे रह सकती है। अपने दिल को पत्‍थर कर के उसे अपने ब्‍वॉयफ्रेंड को डंप करना ही पड़ता है।

इसके अलावा लड़कों का बार-बार झूठ बोलना भी लड़कियों के दिल में चुभता है और जब लड़के अपना कोई वादा नहीं निभा पाते या बार-बार अपनी कही बातों को पूरा करने में असफल रहते हैं तो लड़कियों को मजबूरन उन्‍हें डंप करना ही पड़ता है।

कंट्रोल करने की इच्‍छा

अकसर लड़के अपनी गर्लफ्रेंड को कंट्रोल करने की फिराक में रहते हैं। कहां जाना है, क्‍या खाना है और क्‍या पहनना है, ये सब कुछ अपनी गर्लफ्रेंड के लिए लड़कों को ही‍ डिसाइड करना होता है। अब लड़कियों को गुलामी बिलकुल भी स्‍वीकार नहीं है और इसी वजह से वो लड़कों को डंप कर देती हैं।

गैर जिम्‍मेदार

ये तो सभी जानते हैं कि अधिकतर पुरुष गैर जिम्‍मेदार होते हैं और ऐसे में किसी लड़की का उनके साथ रहना मुश्किल है। इसके अलावा जब लड़कियों को अपना रिश्‍ता जेल की तरह लगने लगता है तो वो अपने ब्‍वॉयफ्रेंड को डंप करने में बिलकुल भी देर नहीं लगाती।

दोस्‍तों, हम ये तो कह देते हैं कि लड़कियां बड़ी आसानी से लड़कों को डंप कर देती हैं लेकिन लड़कियों के इस फैसले के पीछे बड़ी वजह होती है। भला कोई भी लड़की किसी ऐसे इंसान के साथ कैसे रह सकती है जो गैर-जिम्‍मेदार हो या अपनी गर्लफ्रेंड को गुलाम की तरह रखे।

Don't Miss! random posts ..