ENG | HINDI

जिंदगी में इश्क़ ज़रूरी है या पैसा ?

इश्क़ या पैसा

लव के लिए कुछ भी करेगा या पैसे के लिए…

इश्क़ या पैसा ?

ये एक ऐसा सवाल है, जिसका जवाब हर किसी के लिए जुदा है.

किसी को पैसा प्यारा है, तो  कोई इश्क़ में डूब जाने के लिए अपनी करोड़ों की दौलत यूंही लुटा देता है. पैसे की ख़ातिर किसी को लूट लेता है, तो कोई प्यार की ख़ातिर लुट जाता है. बड़ा अजीब है इन दोनों का नाता.

तो चलिए जानते हैं कि आज की युवा पीढ़ी किसे वरीयता देती है.

कोलकाता की रिपर्णा कहती हैं कि जो आनंद प्यार में है, किसी के प्यार में फना होने से जो सुकून मिलता है, वो दुनिया की दौलत में कहां है. प्यार हो, तो दुनिया की हर चीज़ आप पा सकते हैं, लेकिन दौलत से प्यार नहीं कमा सकते.

कानपुर की अनुभा कहती हैं कि प्यार ही वो कड़ी है, जो जीवन को आगे बढ़ाने के लिए ज़रूरी है. अनुभा के अनुसार उनकी लाइफ में इश्क़ ज़्यादा महत्व रखता है. अनुभा कानपुर आने से पहले कनाडा में एक रेप्युटेड फर्म में काम करती थीं, लेकिन हसबैंड के यहां होने की ख़ातिर वो आज नौकरी छोड़कर यहां है. उनके लिए प्यार इस जहां की सबसे ख़ूबसूरत चीज़ है.

उन्नाव के पिंकू कहते हैं कि लाइफ में अगर पैसा है, तो वो दुनिया की कोई भी चीज़ ख़रीद सकते हैं. उनके अनुसार आज हर चीज़ बिकाऊ है. प्यार अब वो पहले वाला नायाब तोहफा नहीं रहा.

अहमदाबाद के जिगनेश कहते हैं कि पैसा होने पर कोई भी आपकी ग्रलफ्रेंड बन जाएगी, लेकिन दिल में प्यार लेके कितना भी आप क्यों न घूम लो एक लड़की नहीं मिलेगी. अब ज़माना बदल चुका है. इश्क़ में कुछ रखा नहीं है. सभी को पैसों की ज़रूरत है और लोग उसी की अनुसार काम करते हैं. इश्क़ तो मात्र दिखावा है.

ये तो थी आज की पीढ़ी की राय.

अब बात आती है आपकी. आपको क्या चाहिए – इश्क़ या पैसा ?

आपको जो उचित लगे उसे चुनिए. इश्क़ या पैसा. वैसे लाइफ में दोनों की ज़रूरत होती है, बस हर किसी के अनुसार वो ज़रूरत समय-समय पर बदलती रहती है. वैसे मेरी राय में इश्क़ से बढ़कर कुछ भी नहीं, क्यों इश्क़ में रब दिखता है.

Article Categories:
संबंध

Don't Miss! random posts ..