ENG | HINDI

पाकिस्तान के ये अजीबोगरीब कानून आपको हैरान कर देंगे !

पाकिस्तान के अजीबो गरीब कानून

पाकिस्तान के अजीबो गरीब कानून – वैसे तो पाकिस्तान खुद को लोकतांत्रिक देश कहता है लेकिन इस देश में एक लोकतांत्रिक रुप से चुनी हुई किसी सरकार को अपना कार्यकाल पूरा करने में 66 साल लग गए.

इस देश पर आजादी के बाद से लगभग आधा समय सेना का राज रहा. यही नहीं इस पाकिस्तान के अजीबो गरीब कानून भी मौजूद हैं जिन्हें हम अगर एक भारतीय नागरिक के रूप में देखेंगे तो बेहद अजीब लग सकते हैं.

पाकिस्तान के अजीबो गरीब कानून

1 – पाकिस्तान नागरिक नहीं जा सकते इजरायल-

ऐसा इसलिए क्कि पाकिस्तान इजरायल को एक देश के रूप में मान्यता ही नहीं देता. एक पाकिस्तानी नागरिक कभी इजरायल नहीं जा सकता क्योंकि पाकिस्तान इजरायल के लिए वीजा नहीं जारी करता.

2 – शिक्षा पर टैक्स-

पाकिस्तान की गिनती विश्व के सबसे कम साक्षर देशों में होता है पर इस देश में शिक्षा पर टैक्स लगता है. अगर कोई पाकिस्तानी स्टुडेंट अपनी शिक्षा पर दो लाख से अधिक खर्च करे तो उसे 5 प्रतिशत टैक्स भरना होगा.

3 – गर्लफ्रेंड के साथ रहना अवैध है-

भारत में दो व्यस्क युवाओं को रजामंदी से एकसाथ रहने की पूरी छूट है पर पाकिस्तान में ऐसा नहीं है. बिना शादी के यहां अगर कोई लड़का-लड़की एक साथ रह रहें हैं तो इसे गैरकानूनी माना जाता है.

4 – कुछ अरबी शब्दों के अंग्रेजी अनुवाद पर है पाबंदी-

अल्लाह, मस्जिद, रसूल, नबी आदि कई ऐसे शब्दों का अंग्रेजी में अनुवाद करना पाकिस्तान में अवैध माना जाता है.

5 – किसी दूसरे का फोन छूना भी है इलीगल-

पाकिस्तान में बिना पूछे अगर आप किसी का फोन छू भी लेते हैं तो आपको 6 महीने के लिए जेल हो सकती है.

6 – ट्रांसजेंडर्स नहीं हो सकते सेना में भर्ती-

पाकिस्तान में ट्रांसजेंडर्स की एक बड़ी अबादी रहती है पर इन्हें इस देश में कई अधिकारों से वंचित रखा जाता है. यहां ट्रांसजेंडर्स सेना में नौकरी नहीं कर सकते.

7 – रमजान में आप नहीं खा सकते बाहर-

यह कानून देश के सभी नागरिकों पर लागू होता है. अगर कोई मुस्लिम नहीं भी है उसे भी इस पूरे महिने घर के बाहर खाना खाने क इजाजत नहीं होती.

8 – प्रधानमंत्री का हीं उड़ा सकते मजाक-

अगर ऐसा करते हुए कोई पकड़ा जाता है तो उसे भारी जुर्माना भरना पड़ता है. 

ये है पाकिस्तान के अजीबो गरीब कानून – पाकिस्तान की पुरानी आदत है कि वह हमेशा कश्मीर की आजादी की राग विश्व के अलग-अलग मंचो पर गाता फिरता है. लेकिन हमारी नजर में अगर पाकिस्तान को सबसे पहले किसी आजादी की जरूरत है तो वह है इन अजीबोगरीब कानूनों से आजादी.

Don't Miss! random posts ..