ENG | HINDI

जानिए उस दिन वीरेंद्र सहवाग ने क्यों बनाया था पाकिस्तान का भूत

विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग

बहुत कम लोगों को जानकारी है कि भारत के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने मुल्तान के अलावा पाकिस्तान में एक ओर विस्फोटक पारी खेली थी.

मुल्तान के सुल्तान यानी भारतीय सलामी बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग ने वर्ष 2006 में लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में पाकिस्तानी टीम का ऐसा भूत बनाया था जिसे पाकिस्तानी टीम आज तक याद करती है.

उस दिन सहवाग ने वनडे के स्टाइल में बल्लेबाजी की थी. उसके पीछे एक कारण था.

दरअसल, उस मैच में पाकिस्तान टीम की ओर से चार खिलाड़ियों यूनुस खान (199), मोहम्मद यूसुफ (173), शाहिद आफरीदी (103) और कामरान अकमल (102’) ने शतक लगाएं थे.

इनके शानदार शतकों की बदौलत पाकिस्तान ने पहली पारी में भारत के सामने 679 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया था. हर कोई यही सोच रहा था कि इतने बड़े स्कोर के दवाब में भारतीय टीम पाकिस्तानी गेंदबाजी के आगे ताश के पत्तों की तरह ढह जाएगी.

पाकिस्तानी खिलाड़ी जब फिल्डिंग करने उतरे तो, वे भी पाकिस्तान में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों के बीच ऐसे उछल कूद कर रहे थे जैसे वे भारतीय बल्लेबाजों को देखते ही देखते पैवेलियन भेज देंगे.

लेकिन उस दिन विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के साथ सलामी बल्लेबाज के रूप में कप्तानी कर रहे राहुल द्रविड़ खुद उतरे.

द्रविड़ ने सहवाग से कहा था कि आज मैदान नहीं छोड़ना है.

सब जानते हैं कि सहवाग के लिए मशहूर है कि जब वे बल्ला घुमाते हुए थे तो वह गेंदबाज और उसकी छवि का कतई लिहाज नहीं करते थे. खासकर पाकिस्तानी गेंदबाजों का तो जरा भी नहीं.

पाकिस्तानी गेंदबाजों को देखकर वीरू यानी सहवाग को क्या हो जाता था पता नहीं.

जब भी पाकिस्तान के साथ मैच में सहवाग बल्लेबाजी करने उतरते थे तो वह यह पहले ही तय करके मैदान में आते थे कि आज पाक गेंदबाजों की ऐसी बखिया उधेड़नी है कि वे याद करे.

वर्ष 2006 में विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपनी चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाफ लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में भी ऐसा ही हुआ. वीरू ने ऐसी ही आतिशी पारी खेली थी जिसको देखकर पाकिस्तानी खिलाड़ियों के होश उड़ गए थे.

इस टेस्ट मैच में सहवाग ने कुल 182 गेंदों पर दोहरा शतक बनाया था. सहवाग 247 गेंदों का सामना कर 254 रन बनाकर आउट हुए थे.
वीरेंद्र सहवाग की यह सर्वश्रेष्ठ टेस्ट पारियों में शुमार है.

इस मैच में पहले विकेट के लिए 410 रनों की रिकार्ड साझेदारी हुई. पाकिस्तान के विशाल स्कोर के जवाब में विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (254) और राहुल द्रविड़ (128’) की दर्शनीय पारियों की मदद से टीम इंडिया ने गेंदबाजों की बखिया उधेड़ डाली.

राहुल द्रविड़ तो बारिश से बाधित रहे इस मैच के पांचवें दिन तक पाकिस्तानी गेंदबाजों से आउट ही नहीं हुए. यह मैच ड्रॉ हो गया था. लेकिन विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने तेज दोहरे शतक से पाक के चार खिलाड़ियों के शतको को फीका कर दिया था.

Don't Miss! random posts ..