ENG | HINDI

इस 12वीं पास महिला को फेसबुक ने क्यों दिए 65 हजार रुपये

विजेता पिल्लई

विजेता पिल्लई – सोशल मीडिया के बढते क्रेज के कारण आजकल सोशल नेटवर्किंग साइट्स के बीच कंपीटिशन भी काफी बढ गया है।

हर साइट चाहती है कि उसके यूजर्स ज्यादा हो और उस पर ज्यादा सक्रिय हो। जिस वजह से साइट्स  लगातार अपनी साइट्स पर न्यू अपडेट करती रहती है और यूजर्स  को लुभाती रहती है।

लेकिन कहते हैं कोई भी चीज परफेक्ट नही होती। यही कारण है कई सोशल नेटवर्किंग साइट्स को अपनी इन कमियों के कारण यूजर्स से गलत रिस्पॉन्स तो मिलता ही है। साथ ही इसकी लोकप्रियता में भी गिरावट आती है। जिसे साइट के बिजनेस पर बुरा असर पङता है। हालांकि मशहूर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने  इस समस्या से बाहर निकलने का बेहतरीन तरीका  बहुत पहले ही खोजा लिया था। फेसबुक उसके एप्स में बग खोजने वाले लोगों को हजारों रुपये इनाम में देती है।

हालांकि एप्स में बग खोजना कोई आसान काम नहीं है। इसे शायद  टेक्नोलॉजी  से संबंध रखने वाले लोग भी बङी मुश्किल से ढूंढ पाए ।

पुणे की विजेता पिल्लई ने खोज निकाला फेसबुक वर्कप्लेस में खतरनाक बग

लेकिन इतने मुश्किल काम को भी पुणे की रहने वाली विजेता पिल्लई ने संभव कर दिखाया है। विजेता पिल्लई ने फेसबुक  के वर्कप्लेस एप में एक बग खोज निकाला और इसकी जानकारी फेसबुक को दी। कंफर्म करने के बाद फेसबुक ने विजेता पिल्लई को 1000 डाॅलर यानि 65000 रुपये इनाम के तौर  पर दिए ।

विजेता पिल्लई

सिर्फ 12वीं पास है विजेता पिल्लई

अब आपको लग रहा होगा कि विजेता या तो टैक्नोलॉजी की स्टूडेंट होंगी। या कोई साफ्टवेयर इंजीनियर । परंतु शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि विजेता पिल्लई सिर्फ 12 वीं पास है । और क्लाइड 11 नाम की कंपनी में सेल्स  रिप्रेंजेटिटव का काम करती है।  लेकिन कहते हैं हुनर किसी डिग्री का मोहताज नही होता । और इसी बात को साबित करके दिखाया है। विजेता पिल्लई ने।

विजेता पिल्लई को  टेक्नोलॉजी में काफी दिलचस्पी है । जिस कारण ही विजेता ने वर्कप्लेस में बग खोज निकाला। विजेता ने एप में जो गलती ढूँढी उसे किसी भी यूजर और एडमिन के लिए परेशानी खङी हो सकती थी। हालांकि फेसबुक ने ये भी पुष्टि की ये इस बग से आईडी हैक नही हो सकती थी।

इस बग से यूजर के अंकाउट में हो सकती थी प्राब्लम

फेसबुक ने वर्कप्लेस एप में बग ढूंढने पर  ईनाम देने की घोषणा 2015 में की थी। तब से वर्ल्ड में इस एप को यूज करने वाले कई लोग बग ढूँढ कर माला माल हुए हैं हालाँकि विजेता पिल्लई इनमे सबसे अलग हैं कि वो टेक्नोलॉजी में केवल रुचि रखती है । और केवल 12वीं पढी हुई है। ज्यादा ज्ञान होने के बावजूद भी उन्होनें इतना मुश्किल काम कर दिखाया। विजेता को इस ईनाम के मिलने के बाद ओर प्रोत्साहन मिला है । जिस वजह से वो फेसबुक के लिए एक ओर बग खोज रही है।

वैसे आपको बता दें फेसबुक का वर्कप्लेस एप कंपनियों में प्रोफेशनल वर्क चैटिंग  के लिए इस्तेमाल होने वाला एप है।

Don't Miss! random posts ..