ENG | HINDI

हज यात्रा में वियाग्रा और पोर्न साथ न ले जाने की हिदायत मिली सरकार से

haj-yatra

सऊदी अरब के मक्का में मुसलमानों का सबसे पवित्र स्थान हज स्थित हैं.

इस यात्रा में जाने वाले को हजयात्री कहा जाता हैं और इस यात्रा को हज यात्रा कहते हैं.

हज की यात्रा, हर साल संपन्न की जाती हैं. इस साल भी हज यात्रा की पहली फ्लाइट 16 अगस्त से शुरू हुई हैं. लेकिन विदेश मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली हज कमटी ने पिछले कई सालों से हज यात्रा के दौरान यात्रियों द्वारा ऐसे सामान ले जाने की शिकायत पर एक एड्वाज़री जारी कर के ऐसे सामान को यात्रा के दौरान न ले जाने की सख्त हिदायत दी हैं.

हज कमिटी द्वारा मिली जानकारी के अनुसार यह पता चला हैं कि इस साल की हज यात्रा में लगभग 1 लाख हज यात्रियों  के शामिल होने की संभावना हैं. कुछ दिन पहले हज कमिटी स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रख कर सभी हज यात्रियों को मेनिनजायटिस के टिके लगाने में व्यस्त थी हैं, क्योकि सऊदी अरब में स्थित पवित्र शहर मक्का जाने के दस दिन पहले यह वैक्सीनेशन ज़रूरी होता हैं.

हज कमिटी द्वारा कराये गए इस वैक्सीनेशन के बाद कमिटी द्वारा सभी हज यात्रियों को यह भी जानकारी दी जाती हैं कि सऊदी अरब में कौन-कौन सी चीज़े अपने साथ ले जाने में मनाही हैं इसलिए उन सभी चीज़ों को अपनी यात्रा में आप अपने साथ न रखे.

हज कमिटी की इस खास एड्वाज़री में लिखा गया हैं कि “कई तरह के गाइड लाइन जारी करने और कई ट्रेनिंग सेशन रखने के बावजूद 2013 और 2014 में कुछ ऐसे केस सामने आये जिसमे हज यात्री वायग्रा, सेक्स आयल, क्रीम जैसे कई सामान के साथ यात्रा करते हुए पाए गए. ऐसा नहीं होना चाहियें. यह एक बेहद गंभीर मसला हैं और इससे कड़ाई से निपटना होगा”

हज कमिटी ने इस बारे में यह भी कहाँ कि हज जैसी पवित्र और आध्यात्मिक यात्रा में सेक्स से जुड़ी वासनाओं वाली सभी  चीज़ों को साथ रखने में खुद सऊदीअरब जैसे देश में मनाही हैं. अरब में इन सब चीजों के अलावा तम्बाकू, सिंथेटिक कपूर, खसखस, खैनी, गुठका, पिपरमिंट, किसी भी तरह के नशीलें पदार्थ, पोलिटिकल साहित्य और फोटोग्राफ ले जाने की भी सख्त मनाही हैं.

फिर लोग इसे अपने साथ क्यों रखते हैं यह समझ के परे हैं.

हज कमिटी के एक अधिकारी ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि हज की पवित्र यात्रा के दौरान किसी भी तरह की  गलत हरकत न किये जाने के आदेश के बावजूद कुछ यात्री वायग्रा और सेक्स आयल की तस्करी करते पकड़े गए हैं. यह सारी चीज़े अरब में बैन हैं तो इस बार हमने यह एड्वाज़री एप्लीकेशन फॉर्म के साथ ही लगा दी हैं ताकि लोगों को इसका महत्व समझ आ जाये.

उन्होंने आगे कहा कि “लोग हज पर मजे करने नहीं बल्कि इबादत करने जाते हैं. लोगों को हज के दौरान तो सेक्स से भी दूर रहने की बात कही गयी हैं लेकिन लोग अपनी इन हरकतों से बाज़ नहीं आते हैं.यात्रियों द्वारा इन्ही सब हरकतों के कारण लोगों को मुस्लिम सेक्स के पागल लगते हैं.

हज कमिटी द्वारा जारी की गयी इस एड्वाज़री का लोगों पर कितन असर पड़ा हैं यह तो अब यात्रा के बाद ही पता चलेगा लेकिन उम्मीद यही हैं कि हज जैसी पवित्र यात्रा का महत्व लोगों को समझ आयें.

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..