ENG | HINDI

यूपी के योगी उठा चुकें है राजदंड – अब तक ये बन चुके हैं कोप का भाजन

अवैध बूचड़खाने

उत्तर प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजदंड उठा लिया है.

उनके कोप का शिकार बनने वालों में सबसे ऊपर हैं सूबे में अवैध बूचड़खाने चलाने वाले मांस के करोबारी.

मुख्यमंत्री ने गो तस्करी पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं. यदि गो तस्करी हुई तो इसके लिए थाना प्रभारी से लेकर सर्किल अधिकारी भी जिम्मेंवार होंगे.

बताया जाता है कि योगी आदित्यनाथ के शपथ लेने के बाद से ही इन पर कार्रवाई की शुरूआत हो गई है. कई जिलों में छापेमारी करके अवैध स्लाउटर हाउसों को सील कर दिया गया है.

यही नहीं योगी सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों में शेष बचे बूचडखानों का निरीक्षण करने और अवैध बूचड़खाने तत्काल बंद कराने का आदेश दिया है.

साथ ही, दोषी लोगों के खिलाफ कानूनी प्रावधानों के अनुसार दंडात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है.

इसके अलावा जिलों में महिलाओं से छेड़छाड़ करने वाले मजनुओं के खिलाफ भी एंटी रोमियों स्क्वायड भी सक्रिय हो गया है. पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वो अपने थानों के वांछित अपराधियों के खिलाफ सख्ती से पेश आए.

इसके अलावा उन्होंने बिजली अधिकारियों को भी कहा है कि गांव में यदि कोई ट्रांसफार्मर खराब होता है तो उसे 72 घंटों के अंदर बदला जाए.

बिजली की किसी गड़बड़ी को जल्द ठीक करने के बिजली अधिकारी रात में तैनाती स्थल पर निवास करे. ऐसा न करने वाले अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ऐसा नहीं कि मुख्यमंत्री ने सारी कवायद अधिकारियों पर की है. बल्कि इसके लिए मुख्यमंत्री योगी ने अपने मंत्रियों को भी नहीं बख्शा है. अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों को उन्होंने सुबह साढ़े नौ बजे दफ्तर पहुंचने के निर्देश दिए.

मंत्रियों को भी सुशासन के लिए आचरण और व्यवहार के साथ समयबद्ध होने पर जोर दिया है. साथ ही यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा है कि मंत्री अपने घर से कोई आदेश जारी नहीं करेंगे.

इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी जिस प्रकार से एक एक मंत्रालय को लेकर उन्हें टारगेट दे रहे हैं उससे उम्मीद है कि आने वाले दिनों बहुत कुछ बदलाव देखने को मिलेगा.

Don't Miss! random posts ..