ENG | HINDI

भारत के ये शहर महिलाओं के लिए बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है !

महिलाओं के लिए असुरक्षित शहर

महिलाओं के लिए असुरक्षित शहर – भारत के कुछ ऐसे शहर भी हैं जहां महिलांए असुरक्षित हैं।

आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे ही शहरों से रूबरू करवाने जा रहे हैं जहां महिलाओं को खतरा है। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन में ये बात सामने आई है कि इन शहरों में महिलाएं दिन ढलने के बाद अकेले बाहर निकलने के बारे में सोच भी नहीं सकती हैं।

महिलाओं के लिए असुरक्षित शहर – 

1 – दुर्ग-भिलाई छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के इन दोनों शहरों का क्राइम रेट सबसे ज्‍यादा है। यहां क्राइम रेट 16.4 और रेप के मामलों की दर 7.9 है।

2 – महाराष्‍ट का नागपुर शहर

महाराष्‍ट के नागपुर जैसे बड़े शहर में भी महिलाओं के साथ अब तक कई हिंसक अपराध हो चुके हैं। यहां हिंसक अपराध की दर 15.7 है और बलात्‍कार की दर 6.6 है।

3 – मध्‍य प्रदेश का भोपाल शहर

महिलाओं के लिए मध्‍य प्रदेश का यह शहर भी इतना सुरक्षित नहीं कि महिलांए कहीं भी आसानी से आ-जा सकें और खुद को सुरक्षित महसूस करें। अनुमान लगाया जाए तो यहां अपराध की दर 17.1 है तो बलात्‍कार की दर 7.1 है।

4 – ग्‍वालियर शहर

मध्‍य प्रदेश का ग्‍वालियर शहर भी महिलाओं के लिए सेफ नहीं है। उनका कहीं भी आसानी से आना-जाना सुरक्षित नहीं होता। आंकड़ों की मानें तो यहां हिंसक अपराध की दर 17.1 है तो बलात्‍कार की दर 10.4 है।

5 – भारत की राजधानी दिल्‍ली

दिल्‍ली को भारत की राजधानी कहते हैं और आप मानेंगें नहीं कि यहां आए दिन महिलाओं के साथ दुर्व्‍यवहार की खबरें सामने आती रहती हैं। दिल्‍ली पुलिस की ओर से जारी किए गए आकडों पर नजर डालें तो बीते कुछ सालों में महिलाओं के प्रति अपराध में कोई खास कमी नही हैं।

यहां 2015 में 1893 रेप केस दर्ज हुए और 4563 हिंसा के मामले सामने आए। रेप की  दर 11.6 है तो हिंसा की दर 28 है।

ये है महिलाओं के लिए असुरक्षित शहर – अब तो आप समझ ही गए होंगें कि भारत जैसे जिस देश में महिलाओं को देवी के रूप में पूजा जाता है उसी देश में आम महिलाएं अपनी मर्जी से घूमना तो दूर सांस तक नहीं ले सकती हैं।

Don't Miss! random posts ..