ENG | HINDI

पानी में बसा है चीन का ये गांव, वजह जानकर हिल उठेंगे आप

पानी में बसा गांव

पानी में बसा गांव – हर देश में समय के साथ विकास होता जाता है। शहरों व गांवों की स्थिति सुधरती जाती है। हमारे देश में ही हम देख सकते हैं कि कितने सारे गांव हाईटेक और मूलभूत सुविधाओं से लेस हो चुके हैं।

लेकिन गौर से देखे तो देश के अंदरूनी इलाकों में आज भी कुछ जनजातियां एक अलग ही दुनिया बसाए हैं। ये जनजातियां आज भी किसी और सदी में जी रही हैं और ये अपनी जड़ों से दूर नहीं होना चाहती है।

ऐसी स्थिति सर्फ भारत की नहीं बल्कि पड़ोसी देशों की भी है। आज हम चीन के एक ऐसे ही गांव की बात करने वाले हैं। कई सौ साल पहले से मौजूद यह गांव पानी पर बसा हुआ है और इतने साल बाद भी यहां के निवासी इसी तरह रहना पसंद करते हैं।

आइए जानते हैं पानी में बसा गांव के बारे में

पानी में बसा गांव

पानी में बसा गांव

पानी वाला यह गांव चीन के फुजिआन प्रांत के निंग्डे शहर में बसा हुआ है। 700 ई. से यहां मौजूद इस गांव में 7000 के करीब  मछुआरे रहते हैं। यहां रहने वाले लोगों की प्रजाति को ‘टंका’ नाम से जाना जाता है। लोगों के बीच यह गांव ‘जिप्सी ऑफ सी’ नाम से भी मशहूर है। अपने पूर्वजों के नक़्शे कदम पर चलते हुए इन्होंने भी अपने घर नावों पर बनाकर रखे हैं। नावों पर बने इन घरों को देखकर आप आश्चर्यचकित हो जाएंगे।

पानी में बसा गांव

टंकों का यह इलाका फुजिआन का सबसे लंबा समुद्र तट है। पानी पर तैरते ये घर लकड़ी से बनाए गए हैं। अब तो लोगों ने घरों के साथ मजबूर फार्म भी बना लिए हैं। इन्होंने बीच-बीच में लकड़ी के पुल जैसे भी बनाए हैं। ये मछुआरे आज भी सदियों से चले आ रहे रीति-रिवाजों का पालन कर रहे हैं। ये कई तरह की मछलियों का करते हैं और जमीन पर जाकर लोगों को बेचते हैं। इसी से इनकी जीविका चलती है।

पानी में बसा गांव

ऐसे हुई शुरूआत

दरअसल 700 ई. के दौरान यहां तांग राजवंश की सत्ता थी। उस दौरान टंका प्रजाति के लोगों को बहुत सताया जाता था और जमीन पर युद्ध भी होते रहते थे। इन सबसे बचने के लिए ये लोग पानी में रहने चले गए थे। आज तो स्थिति बदल गई है। फिर भी ये यही रहना पसंद करते हैं। वे जमीन पर बहुत कम ही जाते हैं।

पानी में बसा गांव

उस दौर में इन लोगों को किनारों पर जाने की मनाही थी। ये तट पर रहने वाले लोगों से रिश्ता भी नहीं जोड़ सकते थे। शादी से लेकर अंतिम संस्कार तक जैसी क्रिया नाव में ही होती थी। लेकिन चीन बनने के बाद स्थानीय सरकार के प्रोत्साहन से ये लोग तटों पर आने लगे हैं। लेकिन कुछ लोग अब भी पानी के बीच अपनी अलग ही दुनिया में रहना चाहते हैं।

पानी में बसा गांव

पानी में बसा गांव – पानी में तैरता यह गांव अपने आप में अनोखा है। इस तरह समुद्र में रहना रोमांचकारी अनुभव होता होगा। कभी मौका मिले तो यहां एक बार जरूर जाइएगा। तब तक अगर यह स्टोरी पसंद आई हो तो इसे शेयर कीजिएगा।

Don't Miss! random posts ..