ENG | HINDI

इन 2 मुख्यमंत्रियों पर टूटा है काले जादू का कहर जानिए कौन है इसके पीछे

काला जादू

देश के दो बड़े प्रदेश के मुख्यमंत्री इस समय भारी संकट के दौर से गुजर रहे हैं.

खबर है कि उन पर विरोधियों ने काला जादू करा दिया हैं.

पहले खबर आई कि तमिलनाडू के मुख्यमंत्री जयराम जयललिता काला जादू की शिकार हुईं हैं, उसके कुछ देर बाद पता चला कि जयललिता ही नहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के ऊपर भी काले जादू का साया है.

काला जादू

दोनों ही मुख्यमंत्रियों पर काला जादू कराए जाने की खबर ऐसे लोगों के जरिए बाहर आई हैं कि लोग इस बात को अब हल्के में नहीं ले रहे हैं.
चेन्नई के आध्यात्मिक गुरु ने बताया कि इस समय जयललिता जो गंभीर रूप से बीमार है उसके पीछे तांत्रिक लोगों का हाथ है और वह काले जादू का शिकार है. सुरक्षा कारणों से खुद की पहचान छिपाते हुए गुरु ने कहा जयललिता का स्वास्थ्य इतना खराब इसलिए हुआ है क्योंकि उनके ढेर सारे विरोधी और प्रतिद्वंद्वी हैं. यही नहीं, जयललिता के स्वास्थ्य के खिलाफ तांत्रिकों पर बड़ी राशि खर्च करने में केवल विरोधी दल (डीएमके) ही नहीं बल्कि उनकी पार्टी ( एआइएडीएमके) के भी कुछ लोग हैं जो उन्हें बीमार देखना चाहते हैं.

गौरतलब है कि जयललिता गत सितंबर माह से ही चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती है और जयललिता के स्वास्थ्य से जुड़ी खबरों को काफी गोपनीय रखा जा रहा है.

वही दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की राजनीति में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल यादव बीच चल रही जंग के बीच को लेकर काला जादू की चर्चा हो रही है.

काला जादू

पार्टी से बाहर किए गए सपा नेता और अखिलेश के दूसरे चाचा रामगोपाल यादव ने मुलायम को पत्र लिखकर कहा था, मुलायम सिंह और अखिलेश के ऊपर दो साल से तंत्र मंत्र चल रहे हैं. यहां तक कि उन्होंने तांत्रिकों के नाम तक उजागर करते हुए बताया कि इसके लिए तीन तीन तांत्रिक लगे हुए हैं. इनमें एक कैलाशानंद है दूसरा राजस्थान का है तो वहीं तीसरा तांत्रिक मध्य प्रदेश का है.

काला जादू

रामगोपाल ने ये भी लिखा कि सैफई में शिवपाल के घर पर एक ट्रैक्टर नारियल चढ़ाया गया था ताकि अखिलेश और मुलायम सिंह को वश में किया जा सके.

उधर, अखिलेश के समर्थकों का भी कहना है कि उनके चाचा शिवपाल अखिलेश को अलग करने के लिए काला जादू कर रहे हैं.

काला जादू

ज्ञात हो कि अभी कुछ दिन पहले ही अखिलेश के करीबी माने जाने वाले उदयवीर सिंह को पार्टी से इसलिए निकाल दिया गया था क्योंकि उन्होंने कहा था कि मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी अखिलेश के खिलाफ अपशकुन कर रही है.

वहीं अब सैफई में मुलायम के परिवार के पड़ोसी भी दबी जुबान से कह रहे हैं कि बीते कुछ सालों से सैफई में पूजा और हवन काफी अधिक कराए जा रहे हैं.

इससे भी कई लोगों को लगता है हो न हो रामगोपाल यादव की काला जादू वाली बात सही है.

Article Categories:
विशेष

Don't Miss! random posts ..