ENG | HINDI

किडनी स्टोन से सिर्फ तीन में छुटाकारा दिला सकती है ये एक सब्जी !

किडनी स्टोन का घरेलु इलाज

किडनी स्टोन का घरेलु इलाज – हर घर में लगभग खाने में सब्जी का इस्तेमाल किया ही जाता है. सब्जी के बिना खाना ना सिर्फ अधूरा रहता है बल्कि बिना सब्जीवाले खाने का स्वाद भी फीका लगता है.

वैसे सभी प्रकार की सब्जियां हमारे सेहत के लिए काफी लाभदायक बताई जाती हैं. लेकिन लोग अपनी पसंद के मुताबिक सब्जियों का सेवन करना ही ज्यादा पसंद करते हैं.

आज हम आपको एक ऐसी सब्जी के बारे में बताने जा रहे हैं जो पथरी वाले मरीजों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. क्योंकि यह सब्जी किडनी स्टोन का घरेलु इलाज है – महज तीन दिन में पथरी पर अपना कमाल का असर दिखाने लगती है.

किडनी स्टोन का घरेलु इलाज – किडनी मरीजों के लिए फायदेमंद है तोरई

तोरई एक ऐसी सब्जी है जिसकी खेती भारत में तकरीबन हर जगह पर की जाती है. तोरई में मौजूद पोषक तत्वों के आधार पर तोरई की तुलना नेनुआ से की जाती है.

हालांकि बारिश के मौसम में तोरई की सब्जी का उपयोग खाने में ज्यादा किया जाता है. आपको बता दें कि बाजार में दो प्रकार की तोरई मिलती है एक का स्वाद मीठा होता है तो दूसरे का स्वाद कड़वा, लेकिन इसमें मौजूद पोषक तत्व किडनी स्टोन यानी पथरी वाले मरीजों के लिए काफी लाभदायक होते हैं.

3 दिन में पथरी को खत्म करती है तोरई

हालांकि बहुत से लोगों को तोरई की सब्जी पसंद नहीं आती है लेकिन ये स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होती है. इसमें फाइबर, विटामिन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं

आपको बता दें कि तोरई की बेल को गाय के दूध या ठंडे पानी में घिसकर रोज सुबह के समय में 3 दिन तक पीने से पथरी गलकर खत्म होने लगती है.

तोरई से होते हैं और भी फायदे

तोरई का इस्तेमाल मधुमेह, नेत्र रोग, पीलिया, संक्रमण, त्वचा रोग और किडनी स्टोन जैसी कई बीमारियं के इलाज में किया जाता है.

– तोरई में कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी बहुत ही कम होता है जो वजन कम करने में काफी मदद करता है.

तोरई मधुमेह के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि यह रक्त और मूत्र दोनों में शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है.

इसमें बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो आंखों की दृष्टि को बढ़ाने में मदद करता है. जबकि तोरई का रस पीलिया रोग के उपचार में मदद करता है.

तोरई का इस्तेमाल मुंहासे, एक्जिमा, सोरायसिस और त्वचा से संबंधित अन्य परेशानियों के इलाज में किया जाता है.

तोरई का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और यह संक्रमण से शरीर की रक्षा करता है.

तोरई ना सिर्फ शरीर के रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है बल्कि यह बवासीर के इलाज में भी काफी सहायक होता है.

किडनी स्टोन का घरेलु इलाज तोरई है – बहरहाल पथरी के अलावा अगर आप इन बीमारियों से भी खुद की रक्षा करना चाहते हैं तो फिर तोरई की सब्जी को अपने भोजन में जरूर शामिल करें और खुद को सेहदमंद रखें.

Don't Miss! random posts ..