ENG | HINDI

ये है मुंबई मेरी जान : अनेकता में एकता का अद्भुत उदाहरण

mumbai meri jaan

मुंबई मेरी जान

मुंबई, सपनो का शहर 

इडली वाले अन्ना को हैदराबाद , मद्रास और बंगलौर का अंतर नहीं पता न ही उसे पता है की केरल और तमिलनाडु अलग अलग है

नार्थ इंडिया से जो है अन्ना, पर दोसे वड़े और इडली का स्वाद ऐसा के उँगलियाँ चाट जाओ.

वो स्टेशन के बाहर दिल्ली के मशहूर छोले भठूरे बेचने वाले भैया भठूरे और छोले तो लाजवाब बनाते है पर दिल्ली के आज तक दर्शन नहीं कर सके.

नासिक में पैदा हुए और महाराष्ट्र के बाहर कहीं गए ही नहीं

foodcollage

गुप्ता जी का वडा पाव खाया उनकी स्पेशल सूखी चटनी के साथ ऐसा वडा पाव के उसके लिए स्वर्ग से देवता भी आ जाये ललचाकर

पता है गुप्ता जी ऐसी जगह से है जहाँ शायद लोग वडा पाव और सूखी चटनी जानते भी नहीं

राजस्थान के गुप्ता जी महाराष्ट्र के वडा पाव को बेच राज कर रहे है लोगों के दिलो पर…

टैक्सी स्टैंड के बगल वाला चायनीज़ जॉइंट

ऐसी ऐसी डिशेस बनती है जिनके नाम चायनीज़ या अमरीकन सुन ले तो बौरा जाये आपस में.

ये दोनों देश एक दूसरे को चाहे एक आँख न सुहाते हो पर इंदौर वाले भैया के जॉइंट पर अमेरिका और चाइना दोनों का जॉइंट वेंचर अमेरिकन चौप्सी ज़रूर मिलेगी.

और हिंदी चीनी भाई भाई की तर्ज़ पर चाइनीज़ भेल भी

collage

देखा क्या कमाल है हज़ारों तरह की चीज़ें है तोड़ने के लिए झगड़ने के लिए पर एक चीज़ है जो इन सब पर भारी है

वो है लज़ीज़ खाना

बिहार से आकर डोसा

इंदौर से चायनीज़

राजस्थान से आकर वडा पाव

और महाराष्ट्र में रह कर छोला भठूरा

ramdan

और ये सब देखना चखना हो तो बस आ जाइये मुम्बई , ना जाने कितने ही लोगों को , ना जाने कितनी ही संस्कृतियों को अपने अंदर समाये है ये शहर. तोड़ने के लड़ने के वैमनस्य फ़ैलाने के हज़ार जरिये हो, पर फिर भी ये शहर रिश्तों को टूटने नहीं देता.

हर आने वाले को पनाह देता है, रोज़गार देता है. जो एक बार यहाँ आ जाता है, इस शहर से इश्क कर बैठता है .

ये है मुंबई मेरी जान : अनेकता में एकता का अद्भुत उदाहरण…

Don't Miss! random posts ..