ENG | HINDI

हर सौ में से एक पुरुष के होते हैं 3 निप्पल, कारण है ये !

तीसरा निपल

तीसरा निपल – मानव का शरीर अपने आप में सैकड़ों रहस्य छुपाये हुए हैं.

यह शरीर ईश्वर की अल्टीमेट क्रिएटिविटी का एक जीता जागता उदहारण है। इस शरीर मुख्यतः दिमाग की संरचना तो इतनी जटिल है कि खुद विज्ञान भी इसको तथ्यों से पर्दा उठाने में नाकामयाब रही है। इस शरीर में सामान्यतः 206 हड्डियां 12 ट्रिलियन कोशिकाएं, 2 आँखें, दो कान, प्रजनन अंग, हाँथ, पैर और भी जो जरूरत की चीजे है सब कुछ है।

इसी संरचना में नाम आता है पुरुष के शरीर में होने वाले कुछ अनावश्यक ऑर्गन का, जिसमें बाल और निपल शामिल है।

क्योंकि अगर देखा जाए तो पुरुषों के शरीर में ना तो बालों का काम है और ना ही स्तन का। लेकिन फिर भी ये ऑर्गन शरीर में होते हैं। खैर अगर कहा जाए तो ईश्वर ने इंसान के शरीर में ऐसी कोई चीज नहीं बनाई जो बेबुनियाद हो, इस शरीर में होने वाली प्रत्येक चीज का महत्व है। चाहे भले ही इंसान को उस ऑर्गन का सही कार्य ना पता हो।

तीसरा निपल

आमतौर पर मनुष्यों के दो निपल होते हैं, लेकिन कई बार एक और निपल भी निकल आता है। इस तीसरे निपल को चिकित्सकीय भाषा में इसे अतिरिक्त निपल भी कहा जाता है।

ये एक सामान्य घटना होती है जो मानव सहित सभी तरह के स्तनधारियों में हो सकता है। अधिकतर मामलों में अधिसंख्य निपलों को मस्सा या कोई अन्य त्वचा संबंधी विकार समझ नज़रअंदाज कर दिया जाता है। ज्यादातर लोग इन्हें पहचानने में असफल ही रहते हैं। ये तीसरा निपल महिला और पुरुष दोनों ही में हो सकता है तथा आमतौर पर 8 अलग-अलग श्रेणियों में वर्गीकृत कि या जाता है। इनका वर्गीकरण इसके विकसित होने के तरीके पर निर्भर करता है। चलिये तीसरे निपल अर्थात अधिसंख्य निपल के बाले में कुछ आश्चर्यजनक बातें और जानते हैं –

पुरुषों की आम आबादी में 100 पुरुषों में से किसी एक को तीसरा निपल निकलता है। वहीं महिलाओं में इसके निकलने का प्रतिशत 50 में से 1 का होता है। लगभग 272 लाख अमरीकियों का मानना है कि उन्हें शरीर के किसी न किसी भाग पर तीसरा निपल निकला है।

तीसरा निपल किसी बच्चे को भी हो सकता है और इसका विकास भ्रूण के साथ ही हो सकता है। कई बार तीसरा निपल आनुवांशिक (विरासत में) भी हो सकता है और आपके परिवार की पहचान बन सकता है।

यदि तीसरा स्तन, स्तन ग्रंथियों के साथ जुड़ा हो तो गर्भावस्था के बाद इससे दूध भी आ सकता है। लेकिन कभी-कभी ये तीसरा निपल हृदय दोष और गुर्दे की बीमारी से जुड़ा हो सकता है। अतिरिक्त निपल्स की देखभाल करने के लिए कोई विशेष दिशा निर्देश हैं।

तीसरा निपल

यहाँ तीसरा निपल होने के कारण तो हमने जान लिए लेकिन आपको एक बात और बता दें कि अभी तक ऐसा कोई रोग नहीं देखा गया है जो तीसरे निपल के कारण हुआ हो। इसलिए अगर आपके शरीर में भी अगर तीसरा निपल है तो घबराने की कोई बात नहीं बल्कि यह तो ईश्वर का दिया हुआ वरदान है जो आपको इस दुनिया में अलग पहचान दिलाएगा।

Don't Miss! random posts ..