ENG | HINDI

भारत माता की लूट के लिए जिम्मेदार 5 बातें! जब राजनीति में एंट्री हुई इनकी तबसे देश की बज रही है बैंड

भारत माता की लूट

आजादी के समय सभी ने यही सोचा था कि अब भारत माता की लूट खत्म हो जाएगी और यही उम्मीद कर, सभी ने नई सरकार का गठन किया था.

लेकिन ऐसा नहीं हुआ और जो लूट अंग्रेजों द्वारा की जा रही थी, वही लूट आजादी के बाद भी जारी रही है.

लेकिन आखिर ऐसा क्यों हुआ कि आजादी के बाद भी देश का पतन जारी रहा है. जब इसका जवाब आप खोजते हैं तो उसके पीछे आपको कुछ कारण जिम्मेदार दिखते है.

आज हम आपको यही बताने वाले हैं कि जब भारतीय राजनीति में इन 5 चीजों की एंट्री हुई तो भारतीय राजनीति का भी पतन हुआ और देश का भी पतन हुआ.

तो आइये जानते हैं भारत माता की लूट के लिए जिम्मेदार 5 बातें-

  1. बाहुबल के आने से राजनीति का स्तर गिरा है

जिस दिन देश की राजनीति में बाहुबल की एंट्री हुई है उसी दिन से भारत माता की लूट और भी ज्यादा गति से की गयी है. सामान्य और अच्छे लोगों की हत्या हुई और बल के आधार पर गुंडे लोग राजनीति में आये हैं.

  1. धन की एंट्री

धन के आधार पर लोग राजनीति में आये और चुनावों में अंधाधुंध धन का उपयोग हुआ है. पहले चुनाव जीतने के लिए धन लगाया जाता है और उसके बाद चुनाव जीतने के बाद यही धन जनता से लूटा जाता है.

  1. गुंडई लोगों का लाभ के लिए उपयोग

हुआ यह कि जब बाहुबल और धन आया तो चुनाव के लिए खड़े हो रहे लोग पक्ष और विपक्ष, दोनों जगह एक जैसे थे तब सामने वाले को हटाने के लिए गुंडई का उपयोग किया गया और इससे राजनीति का स्तर खत्म होने लगा. हालत यह हुई कि राजनीति गुंडे लोगों का काम बन गया. तब घरों में यह कहा जाने लगा कि अब हमारा बेटा राजनीति नहीं करेगा क्योकि वहां साफ़ लोगों के लिए जगह नहीं बची हुई है.

  1. धर्म ने अचानक से देश को बर्बाद कर दिया

एक समय ऐसा आया कि राजनीति के अन्दर धर्म आ गया और धर्म के आधार पर चुनाव होने लगे. हिन्दू अपने हित को देखने लगा तो मुस्लिम वोट पर पार्टियों का निर्माण हुआ. अब चुनाव हिन्दू-मुस्लिम होने लगे थे. तब देश का हित खत्म हो गया और भारत माता को धर्म के नाम पर खूब लूटा गया है.

  1. जब खत्म हुआ विद्रोह

आजादी के बाद एक तरह से लोगों के दिमाग से विद्रोह खत्म हो गया है. देश की जनता तो काफी पहले ही समझ गयी थी कि देश लूटा जा रहा है और देश का धन स्विस खातों में जा रहा है लेकिन तब भी विद्रोह नहीं हुआ. सोये हुए भारतीयों को देखकर तो लूट और भी बढ़ गयी है.

तो यह 5 बातें देश की लूट के लिए जिम्मेवार रही हैं.

लोगों ने बोला कि भगत सिंह तो फिर से पैदा हो किन्तु हमारे नहीं पड़ोसी के घर में पैदा हो जाये.

किसी एक व्यक्ति का नाम लेना यहाँ सही नहीं है किन्तु एक बड़े परिवार ने देश की भलाई के बारें में सोचा होता तो शायद आज देश विश्व का नेतृत्व कर रहा होता.

Don't Miss! random posts ..