ENG | HINDI

मानसून में नहीं खानी चाहिए हरी सब्जियां और ये चीजें

हरी सब्जियां

हरी सब्जियां – मानसून का मौसम अगर अपने साथ बारिश लाता है तो कई सारी बीमारियां भी साथ में लाता है।

संक्रमण, डेंगु, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियां इस मौसम में अधिक हो जाती हैं। ऐसा इस मौसम में गलत खानपान की वजह से होता है। क्योंकि कुछ लोगों को बिल्कुल भी मालूम नहीं होता है कि इस मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। जैसे कि इस मौसम में गोलगप्पा नहीं खाना चाहिए और यह बात हर किसी को मालूम है इसलिए लोग इस मौसम में गोलगप्पा नहीं खाते हैँ। लेकिन इस मौसम में हरी सब्जियां भी नहीं खानी चाहिए।

जी हां… हरी सब्जियां व अन्य चीजें नहीं खानी चाहिए। जबकि लोग हरी सब्जियों को हेल्दी समझकर इस मौसम में खूब सारी खाते हैं। लेकिन यह हरी दिखने वाली सब्जियां ही इस मौसम में बीमारियों का कारण बनती हैं। अगर आपको नहीं मालूम है तो यह आर्टिकल पढ़ें। क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम यही चर्चा करेंगे कि मानसून में वे कौन सी चीजें हैं जो हमें नहीं खानी चाहिए।

हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी सब्जियां

बारिश मतलब ग्रीन मौसम। हर जगह हरियाली हो जाती है। खेलों में साग उग जाते हैं जो लोग मार्केट में लाकर बेचते हैं। हम भी हेल्दी समझकर इन्हें खरीदते हैं और खूब खाते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियों में सभी तरह के पोषक-तत्व होते हैं। यही सोचकर हर कोई इस मौसम में हरी सब्जियां खाता है। पालक के पकौड़े तो खास तौर पर खाए जाते हैं। लेकिन इन हरी सब्जियों के पत्तों में इस मौसम में सबसे ज्यादा कीड़े-मकोड़े पनपते हैं जो बीमारी का कारण बन सकते हैं। इसलिए इस मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियां ना खाएं।

फ्राईड चीजें

हरी सब्जियां

अगर बारिश में पकौड़े और चाट नहीं खाए तो मतलब कि बारिश का असली मजा नहीं लिया। इसलिए तो इस मौसम में मार्केट में ये सारी चीजें खूब बिकती हैं। लेकिन ये मजा ही कई सारी बीमारियों का कारण बनता है। इन तली-भुनी चीजों को खाने से पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। या फिर दस्त लग सकते हैं। इसलिए इस मौसम में अपनी जीभ पर कंट्रोल करना चाहिए और इन फ्राईड व तली-भनी चीजों से दूर रहना चाहिए।

सी फूड्स का सेवन

हरी सब्जियां

इस मौसम में पानी में भी बहुत सारी मछलियां पैदा होती हैं जिन्हें मार्केट में बेचा जाता है। माना जाता है कि मछलियां दिमाग के लिए हेल्दी होती हैं। लेकिन इस मौसम में मछलियां खाना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है। इसलिए इस मौसम में मछली खाने पर रोक लगाइए। बेहतर रहेगा कि इस मौसम में चिकन और मटन ही खाएं।

बासी खाना

रात के बचे चावल को आप फेंकने के डर से सुबह पकाकर दोबारा खा लेती हैं तो आप अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। क्योंकि बारिश के मौसम में उमस बहुत अधिक हो जाती है जिससे बचे खाने 6 घंटे में फर्मेंटेशन की प्रक्रिया शुरू हो जाती है और खाना खराब हो जाता है। इसलिए ज्यादा समय का बना हुआ खाना खाना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

हरी सब्जियां जो मानसून में नहीं खानी चाहिए – तो मानसून में स्वस्थ रहना है तो इन चार चीजों को विशेष तौर पर इस मौसम में ना खाएं। ये हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाते हैं।

Don't Miss! random posts ..