ENG | HINDI

इंजीनियरिंग करने वाले लड़कों में होती हैं ये खास बातें

इंजीनियर्स

इंजीनियरिंग के स्‍टूडेंट्स का बहुत मज़ाक उड़ता है और देश में शायद सबसे ज्‍यादा बेरोज़गार इंजीनियर्स ही होंगें।

आए दिन सोशल मीडिया पर भी इंजीनियर्स को लेकर मीम्‍स बनते रहते हैं। पहले की बात करें तो इंजीनियर्स को बहुत पढ़ाकू टाइप समझा जाता था लेकिन अब इनकी हालत बहुत बुरी हो चुकी है।

अब तो लड़कियां भी इंजीनियरिंग करने वाले लड़कों को भाव नहीं देती हैं और शायद इसी वजह से प्रधानमंत्री मोदी जी ने इंजीनियर्स के लिए गर्लफ्रेंड योजना तैयार की है। इस बात का जिक्र खुद पीएम मोदी जी ने अपने भाषण में किया था।

अपने भाषण में पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के 69 साल बाद भी इंजीनियर्स के पास कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, ये वाकई में चिंताजनक है। उन्होंने आगे कहा इंजीनियरिंग के छात्रों से मैं वादा करता हूं कि दो हज़ार बीस तक आपका विकास होगा। हाफ गर्लफ्रेंड नहीं, सबके पास होगी फुल गर्लफ्रेंड। आपको जानकर हैरानी हो रही होगी कि पीएम मोदी जैसी शख्सियत ऐसा कैसे बोल सकती है लेकिन अब तो ये चुका और अब इस पर ना तो आपको जोर है और ना हमारा।

तो चलिए अब मुद्दे पर आते हैं। वैसे तो इंजीनियरिंग के स्‍टूडेंट्स की बहुत दुर्गति होती है लेकिन आपको बता दें कि इनमें कुछ अच्‍छी बातें भी होती हैं जिनके बारे में शायद आप अब तक अनजान ही होंगें।

जी हां, आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि इंजीनियरिंग करने वाले लड़कों में क्‍या अच्‍छी बातें होती हैं।

इंजीनियरिंग का कोर्स काफी टफ होता है और अगर आप किसी टॉप इंस्‍टीट्यूट से इसकी पढ़ाई कर रहे हैं तो सिचुएशन और भी ज्‍यादा मुश्किल हो जाती है। कई बार कोर्स के दौरान ऐसी परिस्थितियां आती हैं जब आपको धैर्य से काम लेना होता है। इसलिए जब तक स्‍टूडेंट्स का कोर्स पूरा होता है तब तक उनमें धैर्य का गुण कूट-कूट कर भर जाता है।

इंजीनियर बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है। एग्‍जाम देने पड़ते हैं और प्रैक्‍टिकल्‍स और प्रोजेक्‍ट्स तो जैसे जान ही ले लेते हैं। अगर कोई इंजीनियरिंग स्‍टूडेंट ये सब टॉर्चर पास कर लेता है तो इसका मतलब है कि वो बहुत मेहनती और अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए बहुत जिद्दी है। अब भले ही इंजीनियरिंग करने वाले लड़कों का मज़ाक ज्‍यादा उड़ता हो लेकिन वो मेहनती बहुत होते हैं।

इंजीनियरिंग करने वाले लड़कों को आप पढ़ाकू और सीधा भी कह सकते हैं और शायद यही वजह है कि इनकी गर्लफ्रेंड्स कम होती हैं। तभी तो इस बात पर पीएम की नज़र भी गई। देश में इंजीनियर्स के लिए नौकरियां बहुत कम हैं और जब लड़कों के पास नौकरी ही नहीं है तो कोई लड़की उनकी गर्लफ्रेंड कैसे बनेगी।

इंजीनियरिंग के स्‍टूडेंट्स की लाइफ बहुत ज्‍यादा मुश्किल होती है। आपने तो इंजीनियर्स के ऊपर बनने वाले जोक्‍स के बारे में सुना ही होगा साथ ही आपको ये भी पता होगा कि इनकी कितनी फजीहत होती है।

दोस्‍तों, अगर आप भी अपनी लाइफ में कुछ करना चाहते हैं तो प्‍लीज़ इंजीनियरिंग को छोड़कर कोई ऐसा कोर्स करिएगा जिसमें नौकरियों की कोई कमी ना हो।

Don't Miss! random posts ..