ENG | HINDI

5 आदतें जिनके कारण, घन की देवी लक्ष्मी जी नहीं आ रही हैं आपके घर

Goddess Laxmi picture

हम हमेशा खुद से और दूसरों से एक बात बोलते हैं कि “मैं ईश्वर को मानता हूँ, मंदिर भी जाता हूँ फिर भी मेरे पास लक्ष्मी जी नहीं आती हैं.”

तो अब वक़्त के खुद का निरीक्षण और आंकलन करने का कि क्या आप कोई ऐसा कार्य तो नहीं करते हैं जिनके कारण धन की देवी लक्ष्मी जी आपसे नाराज हैं?

आइये जानते हैं उन कार्यों को जिनके कारण धन की देवी लक्ष्मी जी हमारे पास रहना पसंद नहीं करती हैं-

1. आप शास्त्रों और संतों का अपमान करते हैं?

जिस घर में शास्त्रों और संतों का मान नहीं होता है. बात-बात में अपशब्दों का प्रयोग किया जाता है तो इस प्रकार के घर में वहां धन की देवी लक्ष्मी जी वास नहीं करती है. हमारे शास्त्र बताते हैं कि लक्ष्मी जी उसी घर में रहना ज्यादा पसंद करती हैं जहाँ शान्ति हो, जहाँ के लोगों का व्यवहार शास्त्रों के अनुसार हो, जिस घर में संस्कार हों, इस तरह के घर में लक्ष्मी माता निवास करती हैं.

2. क्या आपका घर गन्दा रहता है?

घर छोटा है या बड़ा, अपना है या पराया,  इस बात से कोई भी फर्क लक्ष्मी जी को नहीं पड़ता है. लक्ष्मी जी अपना निवास स्थान उसी घर को बनाती हैं जहाँ साफ़-सफाई का ज्यादा ध्यान रखा जाता है.  इस बात को आप महसूस भी कर सकते हैं कि जो घर साफ़ रहता है वह मानसिक शान्ति के साथ-साथ, आर्थिक मजूबती से भी जुड़ा हुआ रहता है.

3. क्या आप सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सो रहे होते हैं?

हमारे शास्त्रों में साफ़ लिखा गया है कि सूरज उगने के बाद व्यक्ति को नहीं सोना चाहिए और इसी प्रकार जब सूरज ढल रहा होता है तब भी व्यक्ति नहीं सोना चाहिए. अगर आप इस बिमारी से ग्रसित हैं तो आप धन कि देवी लक्ष्मी जी को नाराज कर रहे हैं और उनको खुद से दूर कर रहे हैं.

4. घर में मंदिर नहीं है?

यदि आपके घर में मंदिर नहीं है या आप नित्य शाम को मंदिर में घी का दीया नहीं जलाते हैं तो हो सकता है धन से जुड़ी हुई समस्यायें आपको परेशान करती रहें. घर में एक मंदिर बहुत ही मूलभूत चीज बताई जाती है. जिस घर में मंदिर नहीं होता है या सायंकाल में मंदिर में दीया नहीं जलता है तो वहां लक्ष्मी जी का वास नहीं माना जाता है.

5. संध्या समय और ब्रह्म मुहूर्त में साथी के साथ सेक्स करते हैं?

व्यक्ति के जीवन में भोग-विलास को भी स्थान दिया गया है. धर्म पहली बात तो यह बताता है कि पराई स्त्री या पराये मर्द के साथ शारीरिक संबंध बनाने से देव-देवता नाराज होते हैं और दूसरी मुख्य बात बताई जाती है कि संध्या समय और ब्रहम मुहूर्त ‘ प्रातःकाल 2 से 4’ में संभोग करने से जीवन में धन संबंधित समस्यायें बनी रहती हैं.

तो अब अगर आपमें इनमें से कोई भी बुरी आदत है तो उसका आज ही त्याग कर, धन की देवी लक्ष्मी जी को घर बुलाने की तैयारी जरूर करें. वैसे भी अच्छा आचरण ही इंसान को परमात्मा के पास लेकर जा सकता है अन्यथा इंसान और राक्षस में अंतर कर पाना मुश्किल हो जायेगा.

Don't Miss! random posts ..