ENG | HINDI

इस सीरियल किलर के नाम दर्ज है 30 से ज्यादा महिलाओं से रेप और उन्हें दर्दनाक मौत देने का रिकॉर्ड !

जुर्म की काली दुनिया में रेप, हत्या, डकैती जैसे संगीन अपराधों को अंजाम देनेवाले अपराधियों की कोई कमी नहीं है. जुर्म की इसी दुनिया से जुड़े कई शातिर अपराधी ऐसे भी हुए हैं जो अपने किए हुए गुनाहों के लिए दुनिया भर में मशहूर हो गए.

बीते हुए कल की घटनाओं पर गौर करें तो इनमें से कई घटनाओं के बारे में सुनकर आज भी लोगों का दिल दहल उठता है. आज हम आपको बीते हुए कल के एक ऐसे ही अपराधी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी थी. इतना ही नहीं करीब 30 से ज्यादा महिलाओं से रेप के बाद उन्हें दर्दनाक मौत देकर वो बन गया था सबसे खूंखार सीरियल किलर.

30 महिलाओं को बनाया था हवश का शिकार

अमेरिका का कुख्यात सीरियल किलर थियोडोर रॉबर्ट बंडी उर्फ टेड बंडी एक ऐसा सिरफिरा अपराधी था जिसने सीरियल किलिंग, रेप, किडनैपिंग और चोरी जैसे संगीन अपराधों को अंजाम दिया. वो ज्यादातर महिलाओं को अपना शिकार बनाता था. उसपर 30 से भी ज्यादा महिलाओं के साथ रेप करके उन्हें दर्दनाक मौत देने का आरोप था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बंडी पहले महिलाओं का अपहरण कर, उनके साथ जबरन बलात्कार करता था और बाद में उन्हें मौत के घाट उतार देता था. कहा तो यह भी जाता है कि वो महिलाओं की हत्या करने के बाद भी उनकी लाश के साथ तब तक शारीरिक संबंध बनाता जबतक वो लाशें सड़ नहीं जाती थीं.

तीन बार पुलिस के चंगुल से भाग निकला

पूरे अमेरिका में अपनी हैवानियत के लिए मशहूर सीरियल किलर टेड बंडी उर्फ थियोडोर रॉबर्ट बंडी का जन्म 24 नवंबर सन 1946 को बर्लिंगटन में हुआ था.

अपने गुनाहों को बड़े ही शातिर तरीके से अंजाम देनेवाला डेट बंडी आखिरकार 16 अगस्त 1975 को पुलिस के हत्थे चढ़ गया लेकिन वो पुलिस की गिरफ्त से भाग निकला. वो एक बार नहीं बल्कि तीन-तीन बार पुलिस के चंगुल ने निकलकर भागने में कामयाब रहा.

एक बार फिर पुलिस उसे गिरफ्तार करने में कामयाब रही और गिरफ्तारी के बाद टेड ने पूछताछ के दौरान इस बात का खुलासा किया कि उसने सन 1974 से लेकर 1978 तक 30 से भी ज्यादा महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाया.

बंडी ने काटे थे 12 से ज्यादा महिलाओं के सिर

टेड बंडी ने बताया था कि उसके चार्म के सामने महिलाएं टिक ही नहीं पाती थीं और खुद-ब-खुद उसके चंगुल में फंस जाती थीं. बताया जाता है कि उसने अपने 12 से भी ज्यादा महिलाओं की गर्दन काट दी थी और धड़ से अलग किए गए सिर को अपने घर में सजाकर रखा था.

आखिरकार वो दिन आ ही गया जब उसे उसके गुनाहों की सज़ा मिली. बताया जाता है कि 24 जनवरी 1989 को कोर्ट ने उसे मौत की सजा सुनाई. जिसके बाद उसे फ्लोरिडा के जेल में सुबह 7 बजे इलेक्टॉनिक चेयर पर बिठाकर मौत दे दी गई.

बहरहाल आज भले ही अमेरिका से टेड बंडी जैसे सीरियल किलर का खौफ मिट चुका है लेकिन महिलाओं से रेप और हत्या करने का उसने जो रिकॉर्ड बनाया था उसे सुनकर ही लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं.

Don't Miss! random posts ..