ENG | HINDI

आज तक भारत एक बार भी नहीं जीता है न्यूज़ीलैण्ड से T-20 मैच – क्या आज टूटेगा ये रिकॉर्ड?

T-20 Word Cup India vs New zealand

नागपुर का जामता मैदान

आज शाम यहाँ आमने सामने होंगी T-20 की दो सबसे मज़बूत टीम भारत और न्यूज़ीलैण्ड.

रैंकिंग देखें तो भारत इस समय विश्व में पहले पायदान पर है.

ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में सीरीज हारने के बाद और एशिया कप में बिना एक भी मैच हारे विजेता बनने बाद भारतीय टीम आत्मविश्वास से सरोबार है.

क्रिकेट पंडितों और सट्टेबाजों के अनुसार टीम इंडिया ही ख़िताब की सबसे प्रबल दावेदार है. विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, युवराज सिंह जैसे बल्लेबाजों और आश्विन, बुम्रा, जडेजा और नेहरा जैसे गेंदबाजों और महेंद्र सिंह धोनी की करिश्माई कप्तानी के साथ भारत दुनिया की किसी भी टीम को हरा सकती है.

India-Newzealand

लेकिन कयासों और अपेक्षाओं के अलावा एक चीज़ है जो भारत के विरुद्ध जाती है. वो है भारतीय टीम का न्यूज़ीलैण्ड के सामने रिकॉर्ड.

T-20 खेलने वाले दुनिया के बाकि सब देशों ऊपर टीम इंडिया भारी पड़ती है सिवाय न्यूज़ीलैण्ड के सामने. ब्लैक कैप्स के सामने भारत का रिकॉर्ड सनोश्जंक नहीं बहुत ही बुरा है. आज तक भारत और न्यूज़ीलैण्ड चार बार टी-20 में आमने सामने भिड़े है और कमाल की बात ये है कि आज तक भारत की मज़बूत टीम न्यूज़ीलैण्ड से जीत नहीं सकी है.

इस बार देखना ये है कि क्या धोनी की सेना केन विलियम्सन के ब्लैक कैप्स को हरा सकेगी या नहीं?

न्यूज़ीलैण्ड की टीम मकुलम के सन्यास के बाद थोड़ी कमज़ोर हुई है लेकिन अभी भी उनके पास आक्रामक मैच जिताऊ खिलाडियों की कोई कमी नहीं है.

जहाँ तक पिछले मैच की बात है तो भारत ने लगातार 8 मैच जीते है वहीँ न्यूज़ीलैण्ड भी पिछले 11 मैच में से 10 मैच जीतकर विश्वकप खेलने आई है.

T-20-New Zealand v India

वैसे इस बार भी न्यूज़ीलैण्ड को हराना आसन नहीं लग रहा है. जिस तरह की फॉर्म और आक्रमण न्यूज़ीलैण्ड के बल्लेबाजों का है उसके सामने दुनिया का कोई भी गेंदबाजी आक्रमण घुटने टेक सकता है.

गप्टिल,विलियम्सन,इलियट,एंडरसन के अलावा सबसे बड़ा खतरा भरतीय टीम के लिए युवा कोलिन मुनरो है जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश के दौरान अपनी बल्लेबाज़ी के जलवे दिखाकर सबको आश्चर्यचकित कर दिया था.

न्यूज़ीलैण्ड को हराने के लिए भारत का सबसे बड़ा हथियार स्पिन होगा. भारतीय पिच पर स्पिन को खेलना न्यूज़ीलैण्ड के लिए आसान नहीं होगा, वैसे भी स्पिन के सामने न्यूज़ीलैण्ड के टीम उतनी प्रभावी ढंग से नहीं खेल सकती जितनी वो तेज़ गेंदों को खेलती है.

2015 के विश्वकप के दौरान भारत के पिच पर न्यूज़ीलैण्ड ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनायीं थी.

आज शाम 7 बजे नागपुर में टी-20 विश्वकप के मुख्य मुकाबले की शुरुआत भारत और न्यूज़ीलैण्ड की भिडंत से होगी.

कमेंट्स में बताइए आपकी राय में कौन होगा विजेता?

Don't Miss! random posts ..