ENG | HINDI

जानिए ये महिला मायावती का पीछा क्यों कर रही है!

स्वाति सिंह

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष स्वाति सिंह बहुजन समाजवादी पार्टी की प्रमुख मायावती को पीछा छोड़ने को तैयार नहीं है.

उन्होंने घोषणा की है कि मायावती जहां जहां जांएगी वे उनके पीछे पीछे वहींपहुंच जाएंगी.

स्वाति सिंह ने मायावती को चुनौती देते हुए कहा कि मायावती प्रदेश में जिस सीट से चाहें चुनाव लड़ लें, मैं उनके खिलाफ चुनाव लडने के लिए तैयार हूं.

इस बार मायावती उनके सामने मैदान में ऊतर कर देंखले उनको अपनी हैसियत का अंदाजा हो जाएगा.

मायावती को खुलेआम इस प्रकार चुनौती देने वाली स्वाति सिंह भाजपा से निष्कासित दयाशंकर सिंह की पत्नी है.  दयाशंकर को भाजपा ने उस वक्त पार्टी से निकाल दिया था, जब उन्होंने मायावती पर आरोप लगाते हुए कहा था कि मायावती तो पैसे की भूखी हैं.  उनको जनता के हित से कोई सरोकार नहीं है.  यह कहते कहते दयाशंकर सिंह मायावती पर अमर्यादित टिप्पणी कर बैंठे थे, जिसके बाद मायावती समर्थकों ने लखनऊ में भाजपा और दयाशंकर के खिलाफ प्रदर्शन किया था.

इस दौरान बसपा के नेता इतना आगे निकल गए कि उन्होंने दयाशंकर की मां पत्नी के अलावा नाबालिग लड़की के खिलाफ अभद्र टिप्पणी कर दी.

उसी को आधार बनाकर स्वाति सिंह आज मायावती को ललकार रही है.

उनका कहना है कि वह अपनी पार्टी के नेताओं के गलत आचरण पर कोई कार्रवाई नहीं करतीं और दूसरों पर आरोप लगाती हैं.  मायावती ने मेरे पति को पद से हटाने की मांग तक की और जब उनके पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मेरे व मेरी बेटी के साथ अशोभनीय व्यवहार किया तो मायावती ने कोई नहीं कार्रवाई की.

गौरतलब है कि मायवती समर्थकों द्वारा दयाश्ंकर सिंह की बेटी को लेकर की गई अभद्र टिप्पणी के बाद प्रदेश में विरोध की धुरी मायावती को ओर घूम गई थी.  भाजपा ने जब देखा कि सोशल मीडिया में स्वाति को खूब समर्थन मिल रहा है तो मायवती को लेकर शुरू में बैकफुट पर ही भाजपा इसके बाद एकदम से मैदान में आ गई.  उसने नारा दे दिया की बेटी के सम्मान में भाजपा मैदान में.

दरअसल, इसके बाद मायावती बसपा से जुड़ने वाला ठाकुर समुदाय पीछे हट गया.

उसको लगता है कि जिस प्रकार इसको लेकर लोगों में गुस्सा है उसके बाद यदि वे बसपा के साथ जाते हैं तो समाज में उनको विरोध का सामना करना पड़ सकता है.

वहीं स्वाति सिंह को भी लगता है कि बसपा के नेताओं की अभद्र टिप्पणी से पहले उनको कोई नहीं जानता था. लेकिन उसके बाद जिस प्रकार उन्होंने मायावती के खिलाफ मोर्चा खौला और उसे लागों का समर्थनमिला उसका लाभ आगामी चुनाव में उठाया जा सकता है.

यही वजह है कि स्वाति सिंह मायावती पर हमला करने और उनके बयानों का पीछा कर पलटवार करने का कोई मौका नहीं चूक रही हैं.

स्वाति सिंह की कोशिश है कि समाज के वर्ग में मायावती के खिलाफ जो माहौल बन रहा है उसको ध्रुवीकृत कर उसका राजनीति लाभ उठाया जाए.

Article Categories:
राजनीति

Don't Miss! random posts ..