ENG | HINDI

तुला राशि में होगा सूर्य का गोचर, होने वाला है ये बड़ा बदलाव

तुला राशि में सूर्य

तुला राशि में सूर्य – भगवान सूर्य नारायण कन्या राशि को छोड़ तुला राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। यह प्रवेश भगवान विष्णु के जागरण का मार्ग प्रशस्त करेगा। इसके साथ ही ब्रह्मांड में बड़ा बदलाव होने जा रहा है।

तुला राशि में सूर्य आने के बाद भी ठिठुरने वाली ठंड बेशक नहीं आएगी लेकिन मौसम में हल्‍की सी गिरावट देखने को जरूर मिलेगी। हर मास कृष्ण पक्ष में सूर्य अपनी नई राशि बदलते हैं। उनका यह प्रवेश मौसम पर प्रभाव डालता है। ऐसे में उस नक्षत्र का भी महत्व होता है, जिस नक्षत्र में यह परिवर्तन हुआ हो।

तुला राशि में सूर्य – शुक्रवार को प्रदोष व्रत है और तुला सक्रांति का पुण्य काल अगले दिन शनिवार दोपहर तक बना रहेगा। इस सक्रांति को सौर मास का जनक माना गया है और इस समय कई प्रकार के शुभ कार्य किए जा सकते हैं।

संक्रांति जैसे शुभ अवसर पर कई कार्यों की आधारशिला रखी जाती है।

संक्राति एक ऐसा पर्व है जिसे ना केवल भारत में मनाया जाता है बल्कि दुनिया के बड़े हिस्सो में किसी न किसी रूप में इसे मनाया जाता है। वो अलग बात है कि वहां इस दिन का कोई शास्त्रीय महत्व नहीं होता लेकिन इसे अवश्य शुभ माना जाता है।

चंद्रमास और सौर मास में काफी अंतर होता है। जहां सौर मास की गणना सूर्य से की जाती है वहीं दूसरी ओर चंद्रमास की गणना चंद्रमा से की जाती है। इस दिन को कई यूरोपीय देशो में भी शुभ माना गया है।

इस समय चल रही ऋतु में कुछ न कुछ परिवर्तन तो अवश्य होगा। इस समय शरद ऋतु चल रही है।

तुला राशि में सूर्य – पिछले सौर मास सूर्य का प्रवेश कन्या राशि में हुआ था और अगले माह इनका प्रवेश वृश्चिक राशि में होगा और इस दौरान कड़ाके की ठंड लाने वाली हेमंत ऋतु का जन्म होगा।

Don't Miss! random posts ..