ENG | HINDI

ज़हर है चीनी जबकि अमृत है गुड़ ! जानिए क्यों !

चीनी और गुड़़

सर्दियों का मौसम आ गया है.

ऐसे में हर कोई ऐसे व्यंजन को प्राथमिकता देंगे जिससे सर्दियों के मौसम मे भी गर्मी का एहसास हो.

मतलब सर्दी का बुरा प्रभाव हमारे सेहत पर ना पड़े. इसके लिए हमारा सबसे अच्छा साथी हो सकता है गुड़. आज हम आपसे बात करेंगे चीनी और गुड़़ की. गुड़ की विशेषता और चीनी की हानियों के विषय में चर्चा करेंगे.

चीनी और गुड़़ –

सबसे पहले तो हम आपको बता देना चाहेंगे गुड़ को भारतीयों ने बनाया.

तो वही चीनी को अंग्रेजो ने.

चीनी का निर्माण और प्रयोग भारत में अंग्रेजो ने करवाया था. इसके निर्माण में 20-22 खराब रसायनों का प्रयोग होता है, जो हमारे शरीर के लिए जहर का काम करता है. जबकि गुड़ खाना हमारे सेहत के लिए उतना ही लाभदायक है.

गुड़ के लगातार सेवन से हम अंदरुनी और बाहरी तौर पर पूरी तरह स्वस्थ रह सकते हैं. गुड़ की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये कफ को शांत रखता है. कफ जब भी हमारे शरीर में बिगड़ता है, शरीर में फास्फोरस की कमी होती है. कफ बढ़ने का मतलब शरीर में फास्फोरस की कमी. जबकि चीनी में कार्बोहाइड्रेट होता है, इसलिए यह सीधे रक्त में मिलकर हाई ब्लड प्रेशर जैसी अनेक बीमारियों को जन्म देता है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है.

गुड़ को पचाने में शरीर को अगर 100 कैलरी उर्जा लगती है तो वहीं चीनी को पचाने में 500 कैलोरी ऊर्जा खत्म होती है. गुड़ में कैल्शियम के साथ-साथ फास्फोरस भी होता है. जबकि चीनी के निर्माण विधि की वजह से चीनी का फास्फोरस पूरी तरह खत्म हो जाता है.

गुड़ में लौह तत्व और अन्य खनिज तत्व भी पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं. गुड़ से हमारी पाचन क्रिया मजबूत रहती है और वजन कम करने में भी काफी सहायक सिद्ध होता है. चुकी गुड़ खाने से शरीर का यूरिक एसिड कम होता है, जिसकी वजह से जोड़ों के दर्द में काफी राहत मिलता है. और हड्डियां मजबूत होती है.

जब कि चीनी का प्रयोग डायबिटीज, हाइपोग्लाइसीमिया जैसे घातक रोगों को पैदा करता है. गुड़ हमारे शरीर में छार पैदा करता है जो पेट के लिए काफी अच्छा होता है. जबकि चीनी अम्ल पैदा करती है जो शरीर के लिए काफी हानिकारक होता है.

गुड़़ का लगातार सेवन शरीर के तापमान को नियंत्रित रखता है. इसमें एंटी एलर्जी तत्व होते हैं, इसलिए अस्थमा होने पर भी इसका सेवन काफी फायदेमंद सिद्ध होता है.

इस तरह से चीनी और गुड़़ दोनों मीठे है लेकिन एक अमृत है और एक ज़हर. जब गुड़ के इतने सारे फायदे हैं, तो क्यों ना हम ज्यादा से ज्यादा गुड़ का हीं सेवन करें और चीनी का सेवन कम कर दें या हो सके तो पूरी तरह खत्म कर दें.

ताकि हम स्वस्थ और सुंदर रह सकें.

Don't Miss! random posts ..