ENG | HINDI

अगर शराब पीनी ही है… तो थोड़ी थोड़ी पिया करो !

शराब पीने के शौक़ीन

हमारी ये पहल उन्हें समर्पित है जो शराब पीने के शौक़ीन है और जिसको दो चार पेग लगा ना ले उन्हें नींद ही नहीं आती.

भाई पीने में कोई बुराई नहीं है लेकिन थोड़ी थोड़ी पिएंगे तो बेहतर होगा. हम बाकायदा जानते है कि शराब की बात ही कुछ और है. शराब पीने के बाद हम अपनी दुसरी दुनिया में जो चले जाते है.

वैसे आपको ठीक लगे तो मै कुछ कहना चाहता हूँ.

अगर आप शराब पीने के शौक़ीन है तो लत ना बनाएं ! उसे सिर्फ शौक तक ही रहने दें.

इससे आप भी खुश रहेंगे और आपका परिवार भी. मै जानता हूँ कि मुझसे पहले भी कई लोगो ने आपको इस तरह का सुझाव दिया ही होगा, लेकिन मै कुछ और ही कहना चाहता है.

क्यों ना आप अपने पेग को कम करके देखे. हो सकता है आपको ज्यादा मज़ा आए. दरअसल हम अपने मन को काबू में रखना भूल गए है. ये मन ही है जो आपको बार-बार कहता है कि ‘’चल यार एक पेग और लगाते है’’

शराब.. मूड को बदलने के लिए पी जाती है, ना कि नशे के लिए !

आपने महसूस किया होगा कि आप जब भी ज्यादा पीते है, अपनो से ठीक से बात नहीं कर पाते है.

सीधे घर जाकर, खाना खाकर सो जाते है. यहाँ तक की अपने बीवी बच्चे परिवार के साथ भी समय नही बिता पाते है. शायद ठीक से खाना भी नहीं खाते हो, क्योकि कई लीटर पानी के साथ सोडा और शराब जो आपके पेट में मौजूद होती है.

हमारी माने तो धीरे धीरे एक पेग कम पीना शुरू करें.

इससे क्या होगा कि आपकी सेहत मस्त रहेगी और जेब भी सुरक्षित रहेगी.

आप शराब पीने के शौक़ीन है और अगर तीन पेग लगाते है तो आज सिर्फ दो पेग ही ले, ऐसा करने से आप शराब का असली मज़ा पा सकेंगे.

वैसे शराब पीने के बाद इंसान बातें बड़ी अच्छा करता है, बशर्ते वो थोड़ी सी पी हो.

आपको एक राज़ की बात बताऊ… कभी कभी मै भी थोड़ी ले लेता हूँ.

Don't Miss! random posts ..