ENG | HINDI

होली के दिन ऐसे रहें मनचलों से दूर !

होली के दिन

होली के दिन – होली की तैयारी तो हर जगह शुरू हो गई होगी।

बाजारों में पिचकारियों और रंगों की बिकी जोरों पर है और बच्चे आने जाने वाले लोगों पर खूब मन भर कर गुब्बारों में पानी भरकर फेंक रहे हैं। जिसपर कई लड़कियां मन मसोस कर रह जाती हैं और लड़के हूल दे देते हैं। जिसके कारण बच्चे भी ज्यादा गुब्बारे लड़कियों पर ही फेंकते हैं। मालमू है कि दीदी जब तक पकड़ने आएगी तब तक वे भाग जाएंगे।

मोहल्लों में भी होलिया रे उड़ेरे गुलाल… गाने बजने शुरू हो गए हैं।

लेकिन इस गुलाल के बीच कहीं मनचले की नजर ना पड़ जाए, इसलिए होली के दिन बच कर रहें।

होली के दिन –

मनचलों का भी त्यौहरा है होली

होली के दिन

होली केवल रंगों का ही नहीं बल्कि मनचलों का भी त्यौहार है। इस दिन सामान्य दिनों की तुलना में ज्यादा छेड़खानी और रेप की घटनाएं होती हैं। पिछले दिनों जब श्वेता बता रही थी कि उसके मोहल्ले में एक भैया रहता है जो अपनी बहन को तो केवल टीका लगाता है लेकिन दूसरों की बहन को पकड़ कर मसल-मसल के रंग लगाता है।
श्वेता की तरह आपके भी मोहल्ले में ऐसे भैया रहते होंगे। इनसे बचकर रहें।

ना निकलें घर से बाहर

जब आपको मालूम है कि आपका घर से बाहर जाना सेफ नहीं है तो सबसे अच्छा उपाय यही है कि घर पर ही रहें। हां, कई फेमिनिस्ट बोलने वाली महिलाओं को ये आइडिया बुरा लग सकता है। लेकिन जो महिलाएं धरातल पर रहकर हर छोटी-छोटी चीजों में संभल-संभल कर चलती हैं उनको यही सलाह है कि घर से बाहर ना निकलें। वैसे भी जब आपको पता है कि आग वहीं पर लगी है वहां क्या ही हाथ डालना। आग को अकेले ही जलने दें।

मना करें

होली के दिन

श्वेता के मोहल्ले के भाई की तरह कई लोगों के मुंहबोले भाई घर पर घुसकर भी रंग लगा देते हैं। ऐसे लोगों को लिए अपने घर के दरवाजे उस दिन बंद ही करें। क्योंकि ये ग्रुप में निकलते हैं और “होली है” बोलते हुए घुस जाते हैं। इसलिए इनके लिए उस दिन दरवाजा ना ही खोलें। बेहतर होगा कि एक दिन पहले ही मतलब की आज ही उनके घर पर जाकर बोल दें कि होली के दिन मेरे घर ना आए।
अब प्लीज़… ये मत सोचिए कि उनको बुरा लगेगा। क्योंकि वो आपकी इज्जत पर हाथ डालते हुए एक बार भी नहीं सोचते हैं कि आपको बुरा लगेगा। तो सो कोल्ड बॉलीवुड की फिल्मों की तरह टिपिकल भारतीय नारी बनने की जगह थोड़ा प्रैक्टिकल बनें और टू द प्वाइंट अपनी बात कह दें।

इमरजेंसी नम्बर डायलर में रखें

होली के दिन

अगर होली के दिन सफर करना जरूरी है तो इमरजेंसी नम्बर डायलिंग पर रखें। क्योंकि अधिकतर लड़कियां अपने घर से बाहर रहती हैं। ऐसे में वो होली पर घर जाती हैं। तो उनके लिए इमरजेंसी नम्बर डायलिंग पर रखना जरूरी है। जिससे कि जैसी ही कोई अनहोनी का एहसास हो तो आप हेल्प के लिए नम्बर डायल कर सकें। वैसे भी इमरजेंसी नम्बर 100 तो हर किसी को याह होगा ही। तो इन नम्बर का इस्तेमाल करें और आने वाली होली को अपने लिए सेफ बनाएं।

इस तरह होली के दिन बचकर रहिये – तो इन बेसिक चीजों को ध्यान में रखें और अपनी होली सेफ बनाएं। वैसे भी ये कोई हार्डकोर चीजें नहीं हैं कि आप इसे कर ना सकें। सो सेफ होली, हैप्पी होली!!

Don't Miss! random posts ..