ENG | HINDI

तो इसलिए श्रीदेवी नहीं चाहती थी कि बेटी जाह्नवी बने बॉलीवुड की हीरोइन !

श्रीदेवी

श्रीदेवी अक्सर अपनी बड़ी बेटी जाह्नवी के साथ पार्टीज़ में नज़र आती रहती हैं.

हर जगह ये मां-बेटी जिस ग्लैमर्स अंदाज़ में पहुंचती है, हर किसी को यही लगता है कि श्रीदेवी अपनी बेटी को फिल्मों में आने से पहले ही पॉप्युलर बनाने के लिए ऐसा कर रही हैं और हमेशा वो बेटी को बॉलीवुड में प्रमोट करती हैं. मगर हाल ही में श्रीदेवी ने जाह्नवी को लेकर एक ऐसी बात कही कि सब हैरान रह गए.

जी हां, हाल ही में एक अखबार को दिए इंटरव्यू में श्रीदेवी ने कहा कि, ‘जाह्नवी को शादीशुदा देखकर ज्‍यादा ख़ुशी मिलेगी.’

तो सुना आपने श्रीदेवी भी आम मम्मियों की तरह ही अपनी बिटिया का घर बसते देखना चाहती हैं, वो नहीं चाहती की उनकी बेटी ग्लैमर इंडस्ट्री को बतौर करियर चुनें, मगर शायद बेटी की मर्ज़ी के आगे वो हार गईं.

श्रीदेवी

इंटरव्‍यू में श्रीदेवी ने कहा कि, ‘ वह फिल्‍में करना चाहती थी और मैं शुरुआत में इस पक्ष में नहीं थी. मैं इस इंडस्‍ट्री को बुरा नहीं मानती. मैं इसी दुनिया से बनी हूं. पर एक पैरेंट के तौर पर मुझे यह ज्‍यादा खुशी देगा कि मैं उसे शादीशुदा देखूं, लेकिन उसकी खुशी ज्‍यादा मायने रखती है, और अगर वह एक एक्‍टर के तौर पर अच्‍छा करेगी तो मुझे गर्व होगा.’

श्रीदेवी की बातों से साफ है कि एक्ट्रेस होने के बावजूद अपनी बेटी को लेकर उनकी सोच किसी भी आम मां की तरह है.

जैसे एक आम मां ग्लैमर इंडस्ट्री को बेटी के लिए सेफ नहीं मानती, क्योंकि यहां भटकने की चांजेस ज़्यादा रहते हैं. लगता है श्रीदेवी के मन में कहीं न कहीं यही डर है कि कहीं उनकी बेटी इस चकाचौंध भरी इंडस्ट्री में भटक न जाए.

श्रीदेवी

खबरों की माने तो जाह्नवी कपूर, करण जौहर की फिल्‍म ‘स्‍टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ में टाइगर श्रॉफ के साथ बॉलीवुड में कदम रखने वाली हैं.

हालांकि इससे पहले यह भी खबरें थी कि करण जौहर ब्‍लॉकबस्‍टर मराठी फिल्‍म ‘सैराट’ का हिंदी रीमेक बनाने वाले हैं और इसमें जाह्नवी कपूर नजर आएंगीं. वैसे जाह्नवी के ऑफिशियल लॉन्च की अभी तक कोई घोषणा नहीं हुई है.

बीच में ये भी खबर आई थी कि सैफ अली खान भी नहीं चाहते कि सारा एक्टिंग में अपना करियर बनाए, लगता है ये बॉलीवुड सितारे खुद भले ही ग्लैमर इंडस्ट्री का हिस्सा हो, मगर शायद इसकी असलियत से वाकिफ होते हैं, तभी तो अपने बच्चों को इससे दूर रखना चाहते हैं.

मीडिया के सामने भले ही वो इस इंडस्ट्री की तारीफ करें, मगर जब बात खुद के बच्चों की आती है, तो इस इंडस्ट्री की कड़वी सच्चाई उन्हें डरा देती है.

मगर बेचारे करें क्या आजकल के बच्चे भला कहां मां-बाप की सुनते हैं, वो तो अपनी मर्ज़ी के मालिक होते हैं.

Article Categories:
बॉलीवुड

Don't Miss! random posts ..