ENG | HINDI

कभी सोचा है कुछ लोग कभी मोटे क्यो नहीं होते?

वज़न

वज़न – कभी वो एक्सरसाइज करते हुए नही देखे गए, जब दिखें तब कुछ ना कुछ खा रहे थे फिर भी फिगर ऐसी की हम हमेशा जल-भुन कर रह जाते है, और सोचते है कि ये किस पिछले जन्म के कर्म है जिससे उसे इतनी अच्छी फिगर का वरदान मिला ।

कितनी बार इस तरह की बातो ने दिल में खलबली मचा दी पर आज मेरे पास इसका जवाब है और आप भी इस राज़ को जानने को बेकरार होगें ।

क्यो हम में से कुछ लोग कभी मोटे नहीं होते, वज़न नहीं बढ़ता –  कोई अद्भुत जड़ी बूटी नहीं, बल्कि बहुत से कारण है

१ – फैट अंज़ाइम का ना होना

वज़न

ये एक डाइजेस्टिव एंज़ाइम है जिसका नाम एम.जी.ए.टी. – 2 है जो कि फैट को डाइजेस्ट करने का काम करता है पर एक पतले व्यक्ति में इसकी कमी पाई जाती है इसीलिए इस बात की सम्भावना बढ़ जाती की उसके शरीर से फैट जमा होने की बजाए बाहर निकल जाता है । ये एंज़ाइम फैट को ऊर्जा में बदलने का काम और फैट को जरूरत के समय के लिए जमा करने के काम करता है । इस एंज़ाइम की शरीर में कमी के कारण आपके शरीर में फैट जमा होने के बजाय बाहर निकल जाता है जिस कारण कुछ लोग बहुत सारा फैटी फूड खाने के बावजूद मोटे नहीं होते ।

२ – नॉन एक्साइज़ एक्टिविटी थरमोजेनेसीस (नीट)

वज़न

नीट अकसर उन रोज़मर्रा के कामो को कहा जाता है जो एक्साइज़ नही है पर उनको करने से कभी कभी इंसान का वज़न 2 हज़ार की जगह 4 हज़ार तक घटता है ये रोज़मर्रा के वही काम है आप और हम सब करते है अब वो चाहे गाने सुनते हुए पैर हिलाना हो, अपनी जगह पर ही हिलते रहने की आदत हो, कई बार यही आदतें कम वज़न का कारण बन जाती है ।

३ – जेनेटिक वज़ह

हमारे जीनस् हमारे वज़न को तय करने का काम करते है , जीनस् हमे हमारे माता पिता से मिलते है कभी कभी कुछ जीनस् के एक समान होने से या ना होने के कारण कुछ लोग सदा पतले रहते है । पर ये पाया गया है कि अगर आपके शरीर में क्रोमोसोम-16 जीनस् जो कि किसी व्यक्ति के मोटे पतले होने के पीछे का मुख्य कारण है, की दुगनी मौजूदगी है तो आप पतले रहते है पर अगर क्रोमोसोम-16 जीनस् नही पाए जाते तो आपका वज़न बहुत जल्दी बढ़ता है ।

४ – बीमार की वज़ह से

कई बार आपके पतले होने के पीछे हाइपरथाइराडिसम्, कुपोषण और डाइबिटीज् जैसी बीमारी छिपी होती है जिनमें लम्बे समय तक लापरवाही जानलेवा होती है।

५ – ज़्यादा मसल

वज़न

कुछ लोगो में ज़्यादा मस्ल होना कम वज़न के पीछे का कारण होता है उनकी ज़्यादातर ऊर्जा इन्ही मस्ल को बनाए रखने में व्यय होती है । इसीलिए मस्ल बनाना एक ऐसा फायदेमंद जरिया जिससे कोई भी अपने वेट पर नियंत्रण पा सकता है ।

पतला होना वैसे तो वरदान जैसा है पर अगर कमजोरी, कम भूख जैसी समस्या आपको महसूस होती है तो जल्दी एक योग्य चिकित्सक से सलाह ले । जो लोग इस वरदान से वंचित वो एक्सरसाइज या योग करे ।

Article Categories:
सेहत

Don't Miss! random posts ..