ENG | HINDI

इस देश ने घोषित किया है इस्लाम को असंवैधानिक

इस्लाम असंवैधानिक

पश्चिमी देशों में इस्लाम विरोधी लहर दिन ब दिन प्रबल होती जा रही है.

शायद इसी का नजीता है कि यूरोपीयन देश स्लोवाकिया घोषित किया है कि इस्लाम असंवैधानिक है और एक ऐसा कानून पास किया है जो स्लोवाकिया में इस्लाम पर पाबंदी को मंजूरी देता है.

स्लोवाक की संसद में यह प्रस्ताव दक्षिणपंथी स्लोवाक नेशनल पार्टी की ओर से पेश किया गया था. इस कानून के बन जाने के बाद स्लोवाकिया में अब इस्लाम असंवैधानिक हो गया,  गैर कानूनी धर्म हो गया है. इसमें कहा गया है कि किसी भी धर्म को औपचारिक रूप से उस समय मान्यता प्राप्त हो सकती है जब उसके मानने वालों की संख्या कम से कम 50 हजार हो.

लेकिन इस कानून के बनाने को लेकर जो वजह बताई जा रही है उसके पीछे असल कारण कुछ ओर है. दरअसल, यूरोप में हाल के वर्षों में इस्लामिक कट्टरपंथ और आतंकवाद ने जिस तेजी से पैर पसारे हैं उसको लेकर पूरा यूरोप चिंतित है. उनको लगता है कि इन सब के पीछे इस्लाम की वह शिक्षा है जो मस्जिदों और मदरसों के जरिए लोगों के बीच पहुंचकर समाज में नफरत पैदा कर रही है.

स्लोवाक नेशनल पार्टी के नेता आंदरेज दान्को के बयान से भी इस बात की पुष्टि होती है. इस काननू को लेकर उनका कहना है कि भविष्य में किसी भी मस्जिद के निर्माण को रोकने और इस्लामिक गतिविधियों पर नियंत्रण के लिए और भी प्रभावी कदम उठाये जायेंगे.

स्लोवाकिया के प्रधानमन्त्री रोबर्ट फीको की सरकार द्वारा वहां की संसद में इस्लाम को धर्म की लिस्ट से हटा देने का कानून पास करना उसी दिशा में बढ़ाए गए कदम की ओर संकेत करता है. इस्लामिक आतंकवाद के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रधानमन्त्री रोबर्ट फीको ने स्लोवाकिया में इस्लाम के रजिस्ट्रेशन पर ही प्रतिबन्ध लगा दिया है.

यानी अब वहां कोई भी नागरिक खुद को मुस्लिम रजिस्टर नहीं करा सकता और स्लोवाकिया में धर्म की लिस्ट में अब इस्लाम का नाम नहीं आएगा.

यहां तक की स्लोवाकिया में अब से मस्जिदों का निर्माण भी नहीं हो सकेगा.

गौरतलब है कि पिछले दो वषों में यूरोप के कई देशों ने मानवीय आधार पर विस्थापित मुस्लिमो को शरण दी है. लेकिन बाद में देखा गया कि वहां जो अपराध और हिंसा के मामले सामने आए उनमंे स्थानीय के अलावा बड़ी तादाद में बाहर से आए शरणार्थी लिप्त थे. शरणार्थियों के आने के बाद यूरोप में आतंक व अपराध कई गुना बढ़ गए है.

बता दे कि स्लोवाकिया, हंगरी और पोलैंड यूरापे के कुछ ऐसे देश रहे जिन्होंने विस्थापित मुस्लिमों के आने का सख्त विरोध किया था. और अब स्लोवाकिया ने अपने यहां इस्लाम को धर्म की लिस्ट से ही हटाकर अपने भावी इरादे साफ कर दिए है.

ऐसा करने के बाद स्लोवाकिया दुनिया का पहला देश बन गया है जो इस्लाम को धर्म नहीं मानता है और मानता है कि इस्लाम असंवैधानिक है. स्लोवाकिया के प्रधानमंत्री रोबर्ट फीको के अनुसार वो इस्लाम को धर्म नहीं मानते और इसीलिए स्लोवाकिया में इस्लाम के लिए कोई जगह नहीं. इसी के साथ उन्होंने अपने देश में किसी भी मुस्लिम को शरण देने से भी इंकार कर दिया.

Don't Miss! random posts ..