ENG | HINDI

इन बल्लेबाजों के नाम है सबसे कम पारियों में ‘छक्कों का शतक’ लगाने का रिकॉर्ड

छक्कों का शतक

छक्कों का शतक – क्रिकेट के खेल में ज्यादातर दर्शक बल्लेबाजों के बल्ले से बड़े शॉट देखना चाहते हैं।

जब बल्लबाज गेंद को 6 रनों के लिए भेजता है तो पूरा स्टेडियम गूंज उठता है क्रिकेट के खेल में कई विस्फोटक बल्लेबाज हुए हैं। क्रिस गेल, ब्रैंडन मैक्कलम, शाहिद अफरीदी, एम एस धोनी, विराट कोहली जैसे बल्लेबाज कभ बी गेंद को बाउंड्री के बाहर पहुंचा सकते हैं। आज हम आपको इसी खेल के एक बेहद दिलचस्प रिकॉर्ड के बारे में बताएंगे। हम आपको बताएंगे कि किन बल्लेबाजों के नाम है सबसे कम पारियों में वनडे क्रिकेट में 100 छक्के लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है।

तो आइए जानते हैं कौन हैं वो बल्लेबाज जिन्होंने सबसे कम पारियों में छक्कों का शतक लगाया है।

छक्कों का शतक –

१ – कायरन पोलार्ड:

वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज कायरन पोलार्ड किस कदर आक्रामक हैं ये किसी से भी छिपा नहीं है। वनडे क्रिकेट में सबसे कम पारियों में 100 छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी पोलार्ड के ही नाम है। पोलार्ड ने सिर्फ 86 पारियों में 100 छक्के पूरे कर लिए थे जो कि दुनिया के किसी भी बल्लेबाज से तेज है। पोलार्ड को दुनिया के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है और पोलार्ड ने वेस्टइंडीज को कई मैच अकेले दमपर जिताए हैं।

sixers

२ – रॉस टेलर:

न्यूजीलैंड के स्टाइलिश खिलाड़ी रॉस टेलर सबसे कम पारियों में 100 छक्के लगाने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। टेलर ने सिर्फ 116 पारियों में अपने 100 छक्के पूरे कर लिए थे। टेलर ने धमाकेदार अंदाज में अपने क्रिकेट करियर का आगाज किया था। टेलर की बल्लेबाजी का हर कोई कायल है और वो न्यूजीलैंड के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं। टेलर किसी भी दिन किसी भी गेंदबाज कि बखिया उधेड़ने का माद्दा रखते हैं।

छक्कों का शतक

३ – मार्टिन गप्टिल:

तीसरे नंबर पर भी न्यूजीलैंड के ही बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल हैं। गप्टिल न्यूजीलैंड की तरफ से ओपनिंग करते हैं। गप्टिल को कीवी टीम का सहवाग भी कहा जाता है। गप्टिल क्रीज पर आते ही गेंद को बाउंड्री के बाहर भेजने लगते हैं। गप्टिल सबसे कम पारियों में 100 छक्के पूरे करने की लिस्ट में तीसरे नंबर पर आते हैं। गप्टिल ने 120 पारियों में 100 छक्के पूरे किए थे। गप्टिल न्यूजीलैंड की तरफ से वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं।

छक्कों का शतक

४ – एम एस धोनी:

लिस्ट में चौथे नंबर पर दुनिया के सबसे बेहतरीन मैच फिनिशर एम एस धोनी हैं। धोनी के लंबे-लंबे छक्के भला कौन भुला सकता है। धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आते ही छक्के जड़ने शुरू कर दिए थे। धोनी ने 123 पारियों में अपने 100 छक्के पूरे किए थे। धोनी को दुनिया का सबसे शानदार फिनिशर और कप्तान कहा जाता है। धोनी की कप्तानी में भारत ने सारे आईसीसी के खिताब जीते हैं। धोनी आईसीसी के सारे टूर्नामेंट जीतने वाले दुनिया के एकमात्र कप्तान हैं।

छक्कों का शतक

५ – शाहिद अफरीदी:

पाकिस्तान के विस्फोटक बल्लेबाज शाहिद अफरीदी लंबे समय तक सबसे तेज शतक लगाने के मालिक थे। अफरीदी अपनी पारी में छक्कों से ही रन बनाते थे। अफरीदी ने अपने 100 छक्के 126 पारियों में पूरे किए थे। अफरीदी ने श्रीलंका के खिलाफ 1996 में सिर्फ 37 गेंदों में शतक ठोक डाला था। ये रिकॉर्ड अफरीदी के नाम 17 सालों तक रहा था। हालांकि अब अफरीदी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं लेकिन उनके बल्ले की गूंज आज भी गेंदबाजों के जहन में जिंदा है।

इन्हों ने लगाया छक्कों का शतक – क्रिकेट को समय-समय पर कई ताबड़तोड़ बल्लेबाज मिलते रहे हैं और जबसे टी20 क्रिकेट की एंट्री हुई है इसके बाद से तो मानो की गेंदबाजों की शामत ही आ गई है। मौजूदा समय में हार्दिक पांड्या, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, एविन लुईस, जो रूट, डेविड वॉर्नर को दुनिया का सबसे आक्रामक बल्लेबाज माना जाता है। आज के दौर में बेहद आक्रामक क्रिकेट खेली जाती है और यही कारण है कि आज वनडे क्रिकेट में 350 से ज्यादा और टी20 क्रिकेट में 200 का स्कोर भी सुरक्षित नहीं रहा है।

Don't Miss! random posts ..