ENG | HINDI

1700 साल पुराने ताबूत में बंद है सिकंदर, अब होगी जांच

भारत के इतिहास में सिकंदर का नाम बड़े गर्व से लिया जाता है। कहा जाता है कि सिकंदर बड़ा बहादुर शासक था और उसने कई युद्ध जीते थे। अब सिकंदर की कब्र को लेकर पुरातत्‍वविदों ने एक बड़ा खुलासा किया है।

दो हज़ार साल पुराना ताबूत

पुरातत्‍वविदों की टीम को इसी महीने उत्तरी मिस्‍त्र के तट पर बसे शहर एलेक्‍लेंड्रिया से तकरीबन दो हज़ार साल पुराना एक ताबूत मिला है। इस ताबूत की खास बात ये है कि इसे अब तक का सबसे बड़ा ताबूत बताया जा रहा है।

कैसा है ताबूत

2 मीटर लंबा ये ताबूत काले ग्रेनाइट पत्‍थर से बना है और इसका वजन लगभग 30 टन है। मिस्‍त्र के पुरातत्‍व विभाग ने अपने फेसबुक पेज पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा है कि ‘यह 265 सेंटीमीटर लंबा, 185 सेंटीमीटर ऊंचा और 165 सेंटीमीटर चौड़ा है

ताबूत के ऊपर का हिस्‍सा और बॉडी चूने की परत की है। इससे ये पता चलता है पुराने समय में जब से इसे बंद किया गया है उसके बाद किसी ने भी इसे खोलने की हिम्‍मत नहीं की है।

सिकंदर की कब्र

मिस्‍त्र द्वारा खोजी गई इस कब्र को सि‍कंदर की कब्र बताया जा रहा है। अगर ये बात सच साबित हुई तो यह मिस्‍त्र के पुरातत्‍व विभाग की अब तक की सबसे बड़ी खोज होगी। इसको लेकर अब तक कोई ठोस सबूत नहीं मिल पाए हैं लेकिन जांख्‍ जारी है जो उस सिकंदर की कब्र की दिशा में हो रही है।

कौन था सिकंदर

सिकंदर इतिहास का ऐसा पहला राजा था जिसने पूरी दुनिया पर हुकूमत करने का सपना देखा था। अपनी मृत्‍यु से पहले सिकंदर ने हर उस जमीन को जीत लिया था जिस पर राज करने का उसने सपना देखा था। इसी वजह से उसे विश्‍वविजेता कहा जाता है।

सिकंदर से जुड़ी बातें

सिकंदर का जन्‍म 356 ई.पू में हुआ था। उसके पिता का नाम फिलिप था। सिकंदर को अरस्‍तू से शिक्षा मिली थी। सिकंदर ने भारत को भी हासिल करने का सपना देखा था और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए उसने अभियान भी चलाया था।

सिकंदर को पंजाब के शासक पोरस से युद्ध करना पड़ा। इस युद्ध को हाइडेस्‍पीज या झेलम का युद्ध कहा जाता है। भारत आने के लिए सिकंदर व्‍याद नदी तक पहुंचा था लेकिन उसकी सेना ने इस नदी को पार करने से इनकार कर दिया।

सिकंदर की मौत बहुत ही कम उम्र में हो गई थी। जब उसकी मृत्‍यु हुई तब उसकी उम्र सिर्फ 33 साल थी। कहा जाता है कि सिकंदर को कभी कोई हरा नहीं पाया था लेकिन पोरस के आगे सिकंदर को हार देखनी पड़ी थी।

20 साल की उम्र में ही पिता की मृत्‍यु के बाद सिकंदर को गद्दी संभालनी पड़ी थी।  इतिहासकारों का मानना है कि सिकंदर के गुरु अरस्‍तु ने ही उसके मन में पूरी दुनिया पर राज करने का बीज बोया था।

सिकंदर आशिकमिजाज भी बहुत था। वो ना केवल स्त्रियों बल्कि पुरुषों से भी संबंध बनाता था। सिकंदर की एक आंख नीले रंग की और दूसरी भूरे रंग की थी।

सिकंदर की तरह इतिहास में और भी कई महान शासकों के नाम दर्ज  हैं।

Article Categories:
इतिहास

Don't Miss! random posts ..