ENG | HINDI

दुनियाभर के जाने-माने वैज्ञानिकों ने भी माना है हिंदू धर्म का लोहा

वैज्ञानिक जिन्हों ने माना हिंदू धर्म का लोहा

वैज्ञानिक जिन्हों ने माना हिंदू धर्म का लोहा – हिंदू धर्म को दुनिया में सबसे प्राचीन धर्म माना गया है. इसी के चलते हमारे धर्म में कई बार ऐसी बातों का वर्णन किया गया है जो भविष्य में आकर सत्य में परिवर्तित हुई हैं.

हिंदू धर्म के प्राचीन चित्रों केआविष्कारों को लेकर जो भविष्वाणी सच हुई हैं, आज हम आपको उनके बारे में बताने जा रहे हैं-

वैज्ञानिक जिन्हों ने माना हिंदू धर्म का लोहा –

रोमांड रोजा

फ्रांस के नोबेल पुरुस्कार विजेता रोमांड रोजा ने कहा था कि मैंने एशिया और मध्य एशिया में धर्मों पर कई शोध किए हैं. इसमे मैंने पाया कि हिंदू धर्म दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है. हिंदू धर्म के ग्रन्थों का अध्ययन करते हुए मैंने पाया कि आने वाले पांच सौ सालों में हिंदू धर्म बहुत तेजी से बढेगा क्योंकि इस धर्म में प्राचीन और भविष्य के ज्ञान और बुद्धि का संयोग है.

नास्त्रेदम

नास्त्रेदम ने आजतक जितनी भी भविष्वाणी की हैं वो सभी सच हुई हैं. नास्त्रेदम ने अपनी किताब सेंचुरी में हिंदू धर्म को लेकर भी भविष्वाणी की है, जिसमें उन्होंने कहा है कि भविष्य में रूस हिंदू धर्म से प्रभावित होकर भारत के साथ मिलकर अरब देशों में हिंदू धर्म को बढावा देंगे.

अल्बर्ट आइंस्टाइन

इतिहास के सबसे बड़े वैज्ञानिक का कहना था कि हिंदुओ ने अपने योग साधना, बुद्धि और ज्ञान से बहुत बड़े-बड़ेआविष्कार किए हैं जिनके अधार पर एक दिन हिंदू धर्म पूरी दुनिया में शांति स्थापित करेगा.

बर्नाड शो

बर्नाड शो ने भविष्वाणी की थी कि इस दुनिया में जितने भी बुद्धिमान और शिक्षित लोग हैं वो सभी एक ना एक दिन हिंदू धर्म को समझने के लिए उसकी ओर प्र्भावित होंगे. उन्होंने ऐसा अपने एक युरोप में हुए सर्वे के आधार पर कहा था, जिसमें शामिल अधिकतर लोग हिंदू धर्म से बहुत प्रभावित थे.

ये है वो वैज्ञानिक जिन्हों ने माना हिंदू धर्म का लोहा – हिंदू धर्म एक ऐसा धर्म है जो अपने भीतर कई राज़ छुपाए बैठा हैऔर यह हम मनुष्य पर निर्भर करता है कि कैसे हम उन छुपे रह्स्य को खोज निकालते हैं और दुनिया के आगे इस धर्म के असली महत्‍व को सामने लाते हैं.

Don't Miss! random posts ..